105 वालों को लग रहा है की हम महाराष्ट्र के मालिक और देश के बा’प हैं: शिवसेना

महाराष्ट्र में सियासी उठा पठ’क के बीच कांग्रेस-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और शिवसेना के नेताओं की शनिवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से होने वाली मुलाकात फ़िलहाल टल गई। यह मुलाकात आज शनिवार शाम साढ़े बजे होना थी। लेकिन, इसके कैं’सिल होने की वजह का फिलहाल पता नहीं चल पाई है।इसी बीच शिवसेना ने बीजेपी पर विधायकों की खरीद फरो’ख्त का आरो’प लगाया है। पार्टी के मुखपत्र सामना में शिवसेना ने आरो’प लगाया कि बीजेपी महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन की आ’ड़ में हॉ’र्स ट्रेडिं’ग विधायकों की खरी’द फरो’ख्त कर रही है।

मुखपत्र में शिवसेना का कहना है कि नए स’मीकरण से कुछ लोगों के पे’ट में बहुत द’र्द हो रहा है। जिसको वो लोग सह नहीं प रहे है। शिवसेना ने लिखा, की कौन कैसे सरकार बनाता है देखता हूं, अपरोक्ष रूप से इस तरह की भा’षा और कृ’त्य किए जा रहे हैं। ऐसे श्रा’प भी दिए जा रहे हैं कि अगर सरकार बन भी गई तो कितने दिन टिके’गी देखते हैं।

वही मुखपत्र में आगे कहा गया है कि 105 सीटें जीतने वाली बीजेपी को लग रहा है कि वह महाराष्ट्र के मालिक है और खुद को देश का बा’प समझ रही है। बता दें कि महाराष्ट्र बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने शुक्रवार को कहा है कि राज्य में बीजेपी के बिना पांच साल तक स्थिर सरकार बनाना असं’भव है।उन्होंने कहा है कि बीजेपी के पास कुल 119 विधायकों का समर्थन हैं जिसमें से 14 निर्दलीय हैं।

हलाकि कल बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि सरकार चलाने के लिए 145 विधायकों का बहुमत का आंकड़ा होना चाहिए। जो कि संवैधानिक तौर पर बिल्कुल सही है। लेकिन साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि उनकी पार्टी गर्वनर भगत सिंह कोश्या’री से मिल चुकी है और सरकार बनाने में असमर्थता जता चुकी है। ऐसे में वह अब किस हक से कह रहे हैं कि उनकी ही सरकार बनेगी।

लेकिन सामना में पूछा गया है कि फडणवीस कैसे कह रहे हैं कि अब केवल हमारी सरकार ही है। शिवसेना ने लिखा, की महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने अपने विधायकों को बड़ी विनम्र’ता से कहा था कि बिंदास रहो, राज्य में फिर से भाजपा की ही सरकार आ रही है।

जो ऐसा कह रहे हैं कि अब भाजपा की सरकार आएगी वे 105 वाले पहले ही राज्यपाल से मिलकर सा’फ कह चुके हैं कि हमारे पास बहुमत नहीं है। इसलिए सरकार बनाने में हम असमर्थ हैं।