ब्रेकिंग न्यूज़: जामिया-AMU छात्रों के समर्थन में आए हार्वर्ड, कोलम्बिया, येल सहित 19 विदेशी यूनिवर्सिटी

वाशिंगटन: नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध कर रहे ‘जामिया मिल्लिया इस्लामिया’ (Jamia Millia Islamia University) के छात्रों पर पुलिसिया कार्रवाई के बाद भड़की आग सोमवार को दिल्ली, लखनऊ, अलीगढ़ समेत देश के कई शैक्षणिक संस्थानों के बाद अब ये अमेरिका तक पहुंच गई है। आप को बता दें कानपुर, बॉम्बे और मद्रास आईआईटी, बीएचयू, दिल्ली, जाधवपुर और इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रों ने जामिया के छात्रों के समर्थन में और नागरिकता कानून तथा दिल्ली पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया।

वही दूसरी ओर ‘जामिया मिल्लिया इस्लामिया’ (Jamia Millia Islamia University) के छात्रों को अब अमेरिका की करीब 19 यूनिवर्सिटी के 400 स्टूडेंट्स ने समर्थन दिया है। जिसमे हार्वर्ड, येल, कोलंबिया, स्टैनफॉर्ड समेत कुल अमेरिका की 19 यूनिवर्सिटी ने बयान जारी कर भारत में छात्रों पर ‘हिं’सक पुलिस कार्रवाई’ की कड़ी निंदा की है।

‘जामिया मिल्लिया इस्लामिया और AMU के समर्थन में आए 19 विदेशी यूनिवर्सिटी के छात्र

 

बता दें नागरिकता संशोधन अधिनियम 2019 को असंवैधानिक और भेदभावपूर्ण करार देते हुए विश्वविद्यालयों ने हार्वर्ड विश्वविद्यालय में आज यानी 17 दिसंबर को छात्र-नेतृत्व का विरोध करने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा की हम असंवैधानिक और भेदभाव वाले नागरिकता कानून के खिला’फ शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे भारत की सभी यूनिवर्सिटी के छात्रों के साथ हैं। हम दिल्ली पुलिस उत्तर प्रदेश पुलिस और सीआरपीएफ के सत्ता के दुरुपयोग करने की त’त्काल, स्वतंत्र और कड़ी जांच की मांग करते हैं।

अमेरिका की जिन यूनिवर्सिटी के छात्रों और एलुमनाई के समूह ने बयान पर साइन किए हैं, उनमें हार्वर्ड यूनिवर्सिटी, कोलंबिया यूनिवर्सिटी, येल यूनिवर्सिटी, न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी, स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी, मिशिगन यूनिवर्सिटी, शिकागो यूनिवर्सिटी, ब्राउन यूनिवर्सिटी, जॉर्ज टाउन यूनिवर्सिटी, पेंसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी, कॉर्नेल यूनिवर्सिटी, मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बर्कले पर्डयू यूनिवर्सिटी और इलिनोइस यूनिवर्सिटी शामिल हैं।

बता दें जामिया मिलिया इस्लामिया और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के अलावा देशभर के अलग-अलग कॉलेजों और यूनिवर्सिटी के छात्र लोकसभा के बाद राज्यसभा में पास हुए नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) के खिला’फ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। छात्रों ने इस कानून को अ’संवैधा’निक और भे’दभावपू’र्ण बताया है।

साभार: thequint

Leave a comment