21 दिन के लॉक डाउन पर आप घबराएं नहीं, भले ही प्रधानमंत्री मोदी आज बताना भूल गए हों

21 दिन के लॉक डाउन पर आप घबराएं नहीं, भले ही प्रधानमंत्री मोदी आज बताना भूल गए हों

दोस्तों आपको 21 दिन के लिए देश लॉकडाउन होने की खबर पर ज़रा भी न घबराएं. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भले ही आज अपने 8:00 के दिए भाषण में यह बात बताना भूल गए हों. लेकिन इतने लम्बे अरसे के लॉकडाउन के दौरान जो हमारी दैनिक जरूरत की चीजें हैं. उन्हें बंद नहीं किया जाएगा.

हालांकि आम लोगों के घरों से बहार घूमने-फिरने और निकलने पर ज्यादा सख्ती रहेगी. क्यूंकि अभी तक आप देख चुके होंगे कि घरों में रहने की सलाह को कुछ लोग बेहद हलके में ले रहे हैं. वह सोच रहे हैं कि हमारे अकेले बहार निकलने से हमें कुछ नहीं होगा, तो ये आपकी बहुत बड़ी ग़लतफ़हमी है.

रोज़ाना की ज़रूरतें पूरी होती रहेंगी, चिंता की कोई बात नहीं

आज रात को 12:00 बजे के बाद से, 14 अप्रैल तक देश की 130 करोड़ से भी ज्यादा लोगों की आबादी, अपने घरों में ही बंद रहेगी. जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत देश को 21 दिन के लिए लॉक डाउन करने की बात कही, तो इसके बाद जैसे मानो हर शहर में हडकंप सा मच गया.

Desh me lock down tha zaroori

लोगों की ज़बर्जस्त भीड़ मेडिकल स्टोर, पेट्रोल पंप, राशन, सब्जी की दुकान और दूध की दुकानों पर भारी भीड़ जमा होने लगी. हालांकि इन सब का पर्याप्त स्टॉक होने का भरोसा राज्य सरकारें दिलाती रही हैं. देश में किसी भी चीज़ के कमी नहीं आयेगी.

दोस्तों इस लम्बे वक़्त के लॉक डाउन के दौरान किन लोगों को अपने संस्थान बंद रखने रखने हैं, और वह कौन से संस्थान है जो इस दौरान खुले रहेंगे या ऐसी सेवाएं जिनमें छूट दी जाएगी.

भारत सरकार के सभी सरकारी दफ्तर और निगम पूरी तरह से बंद रहेंगे. इसके अलावा डिफेंस, ट्रेजरी, पेट्रोलियम, सीएनजी, एलपीजी, पीएनजी, प्रबंधन और डाकघर जैसी सेवाएं देने वाले संस्थान चालू रहेंगे.

21 din ka lock down

अस्पताल और प्राइवेट पब्लिक सेक्टर में मेडिकल से जुड़े मैन्युफैक्चरिंग और डिस्ट्रीब्यूट करने वाले विभाग खुले रहेंगे. डिस्पेंसरी, मेडिकल, केमिस्ट की दुकान या फिर मेडिकल इक्विपमेंट बनाने और बेचने बेचने वाली दुकान खुली रहेंगी.

नर्स, नर्सिंग होम, क्लीनिक, एंबुलेंस इस लॉक डाउन के दौरान अपना काम जारी रख सकेंगे. इसके अलावा मेडिकल स्टाफ. नर्स. पैरामेडिकल स्टाफ अस्पताल से जुड़ी सेवाओं में काम करने वाले स्टाफ के लिए ट्रांसपोर्टेशन को भी छूट रहेगी.

लोगों के घरों तक होम डिलीवरी को बढ़ावा दिया जायेगा, जो कि प्रशासन द्वारा मदद की जाएगी. जिससे देश के लोग कम से कम अपने घरों से बाहर निकलें.

इस दौरान इंश्योरेंस के दफ्तर, एटीएम और बैंक सर्विसेज चालू रहने वाले हैं. इसके अलावा इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया भी अपना काम जारी रखेगा. इंटरनेट सेवाएं जैसे कि टेलीकॉम, ब्रॉडकास्टिंग और केबल आँपरेटर सेवाएं, आईटी फील्ड से जुड़ी हुई सेवाएं चालू रहेंगी.

दवाएं, फल फ्रूट, खाने पीने का सामान और ई कॉमर्स के जरिए डिलीवरी देने वाली दुकानें चालू रहने वाली हैं. इसके अलावा कोल्ड स्टोरेज और वेयरहाउस भी चालू रहेंगे. प्राइवेट सिक्योरिटी सर्विसेज भी अपना काम जारी रखेंगे.

Leave a comment