आम आदमी पार्टी के इन मुस्लिम उम्मीदवारों ने लहराया जीत का परचम, आसान नहीं था ये

दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे आ चुके हैं, रुझानों के अलावा नतीजों में भी आम आदमी पार्टी को जबरदस्त बहुमत मिला है। आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में बंपर वोटों से जीत हासिल की है। जिसमें सबसे ज़्यादा वोट पाने वाले प्रमुख कैंडिडेट अमानतुल्लाह खान रहे. अमान्तुल्ला खान ने ओखला सीट से सबसे ज्यादा वोट पाकर अच्छी खासी शोहरत बटोरी है.

आम आदमी पार्टी में अमान्तुल्ला खान के अलावा और भी कई ऐसे मुस्लिम उम्मीदवार हैं। जिन्होंने अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों में अच्छे वोटों से जीत हासिल की है। अमानतुल्लाह खान का क्षेत्र ओखला सीट के उस इलाके में भी आता है जहाँ शाहीन बाग़ है.

शुरूआती रुझानों में तो ऐसा लग रहा था कि अमान्तुल्ला खान काफी कम मतों से जीत पाएंगे, लेकिन बाद में आखरी समय उन्होंने जबरदस्त वोटों से जीत हासिल की। आम आदमी पार्टी के कुछ मुस्लिम उम्मीदवारों ने इस तरह से जीत का परचम लहराया पोस्ट में नीचे देख सकते हैं.

दिल्ली ओखला विधानसभा सीट (आम आदमी पार्टी)

दिल्ली की ओखला सीट से अमानतुल्लाह खान, 87000 मतों से विजयी रहे. इस सीट पर सबसे ज़्यादा झुकाव भाजपा का था. यहाँ तक की गृह मंत्री अमित शाह ने इस सीट को लेकर बयान दिया था, बटन इतनी ज़ोर से दबाना कि करंट शाहीन बैग तक लगे.

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इसी सीट को लेकर गोली वाला बयान दिया था. कि बोली से नहीं माने तो गोली से तो मान ही जायेंगे. इसके अलावा कपिल मिश्रा, अनुराग ठाकुर, प्रवेश वर्मा सहित कई और बीजेपी नेताओं ने इसी शाहीन बाग़ वाली सीट को लेकर ज़हरीले भाषण दिए थे.

चांदनी चौक विधानसभा सीट

आम आदमी पार्टी से पिछली बार अलका लांबा विधायक रही थीं. इसके बाद केजरीवाल से मनमुटाव के चलते उन्होंने अपनी पार्टी बदल ली थी. हालांकि अलका लाम्बा को इस तरह से आम आदमी पार्टी को छोड़कर कांग्रेस में जाना काफी महंगा पड़ गया।

क्योंकि अलका लांबा चांदनी चौक सीट से बुरी तरह से शिकस्त खा चुकी हैं। अगर आम आदमी पार्टी में वह रहती तो उन्हें यहां पर ताबड़तोड़ बंपर जीत मिल सकती थी। लेकिन पार्टी की वजह से अलका लांबा की छवि थोड़ा खराब हुई और वह चांदनी चौक विधानसभा सीट पर जीत हासिल करने में नाकाम रहीं.

आपको बता दें कि चांदनी चौक सीट से आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार प्रहलाद सिंह ने भारी संख्या में वोट बटोरे हैं. यहाँ चेहरा कोई भी हो सकता था, लोगों ने आम आदमी पार्टी को देखकर वोट दिया है.

मुस्तफाबाद विधानसभा सीट

दोस्तों मुस्तफाबाद विधानसभा सीट से आम आदमी पार्टी के हाजी युनूस खान साहब ने जीत हासिल की है. यहाँ रुझानों के मुताबिक शुरू में हाजी साहब पीछे चल रहे थे, जिसके बात उतार-चड़ाव की स्तिथि बनते-बनते हाजी युनिस खान ने 20 हज़ार वोटों से जीत हासिल की है.

बल्लीमारान विधानसभा सीट

बल्लीमारान सीट से आम आदमी पार्टी के कैंडिडेट, इमरान ने भाजपा की लता को हराकर 36172 वोटों से जीत हासिल की है. इस सीट पर भी काफी उतार-चढ़ाव की स्थिति बनी थी। लेकिन अंत में जाकर इमरान आम आदमी पार्टी से बल्लीमारान विधानसभा सीट पर विजेता रहे।

सीलमपुर विधानसभा सीट

दिल्ली की सीलमपुर विधानसभा क्षेत्र से, आम आदमी पार्टी ने परचम लहराया है। यहां से भाजपा के कौशल कुमार मिश्रा चुनाव लड़ रहे थे, और आम आदमी के अब्दुल रहमान चुनावी मैदान में थे। अब्दुल रहमान ने 72694 वोटों से जीत हासिल की है।