अब वक्त आ गया है कि मुसलमानों को बीजेपी से समझौता कर लेना चाहिए- मुस्लि’म नेता

केंद्र में सरकार बनाने के लिए हुए लोकसभा चुनाव 2019 की मतगणना 23 मई सुबह से ही जारी हैं. शाम का समय हो चूका है और स्थितियां काफी हद से स्पष्ट हो चुकी हैं. चुंकि अभी तक अधिकारिक तौर पर परिणामों की घोषणा नहीं हुई हैं लेकिन बात करते हैं रुझानों की. अब तक के स्पष्ट रुझानों में बीजेपी बहुमत के साथ केंद्र की सत्ता में आना लगभग तय हो चूका है.

वहीं उत्तर प्रदेश की बात की जाए तो यहां से भी बीजेपी का प्रदर्शन बहुत ही शानदार रहा है. बीजेपी ने ज्यादातर राज्यों में बहुत ही अच्छा प्रदर्शन करते हुए एकतरफा जीत हासिल की हैं. 2019 में बीजेपी का प्रदर्शन 2014 के मुकाबले और भी अच्छा रहा है और यह बीजेपी के लिए रिकॉर्ड जीत है.

Image Source: Google

बीजेपी की इस जीत को देखते हुए कहा जा रहा है कि पिछले चुनाव में मोदी लहर थी लेकिन इस चुनाव में मोदी की सुनामी देखने को मिली हैं. कांग्रेस को इस चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा है. वह 50 के आकडे को छूती हुई भी नजर नहीं आ रही हैं.

इसी बीच कांग्रेस नेता रोशन बेग के पार्टी छोड़ने की अटकलें तेज हो गई हैं. कांग्रेस की हार के बीच उन्होंने कांग्रेस पर मुस्लिमों को नजरअंदाज करने आरोप लगाया हैं. उनका कहना है कि कांग्रेस ने मु’स्लिम समुदाय को नजरअंदाज किया है इसलिए उसे आज यह दिन देखना पड़ रहा हैं.

ज़ी न्यूज़ पर छपी खबर के मुताबिक उन्‍होंने कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस ने ईसाइयों को एक भी सीट से प्रत्याशी नहीं बनाया जबकि मुस्लिमों को सिर्फ एक सीट पर टिकट दिया गया था और उनको नजरअंदाज किया गया है.

उन्होंने कहा कि मैं इस सबको लेकर काफी परेशान हूं. कांग्रेस ने हमेशा से हमारा इस्‍तेमाल किया गया है. वह हमेशा वोट तो लेती है लेकिन जब बात टिकट की आती है तो वह पीछे हो जाती हैं. बेग से जब यह पूछा गया था कि क्‍या आने वाले कुछ दिनों में आप कांग्रेस छोड़ सकते हैं?

तो उन्होंने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो वह ऐसा जरुर करेगें. इसी दौरान उन्होंने मु’स्लिमों से अपील करते हुए कहा कि बीजेपी नीत एनडीए सत्ता में वापसी कर लेता हैं तो उन्हें हालातों से समझौता कर लेना चाहिए. ऐसे हालात में मु’स्लिमों को बीजेपी और एनडीए से हाथ मिला लेना चाहिए हम किसी एक पार्टी के लिए वफादार नहीं रह सकते हैं.