VIDEO: अबू धाबी की मस्जिद में नहीं लगया जाता धर्म का ठप्पा, इफ्तार के वक्त हर धर्म के लोग होते हैं शामिल

संयुक्त अरब अमीरात की शेख ज़ायद ग्रैंड मस्जिद में हर साल लाखों की तादात में लोग देश विदेश से मस्जिद को देखने और इस्लाम को करीब से जानने के लिए पहुंचते है. दरअसल यह मस्जिद अपनी खूबसूरती को लेकर न सिर्फ अरब देशों में बल्कि दुनियाभर में मशहूर है. इस मस्जिद के दीदार के लिए ना सिर्फ इस्लाम के अनुयायी आते है बल्कि गैर-मुस्लिम लोग भी बड़ी तादात में पहुंचते है.

 

यह मस्जिद काफी खूबसूरत और काफी बड़ी है. संयुक्त अरब अमीरात के अबुधाबी स्थित शेख जायेद ग्रेंड मस्जिद को दुनिया की सबसे खुबसूरत और मशहूर मस्जिदों में गिना जाता है. यहां दुनियाभर से सेलिब्रिटी पहुंचते रहते है लेकिन रमज़ान उल मुबारक के मुक़द्दस माह ने यहां का नज़ारा और भी खूबसूरत हो जाता है.

Image Source: Google

रमजान के पाक माह में यहां होने वाले इफ्तार का नज़ारा रूहानी रहता है और अरबों की मेहमाननवाज़ी की शानदार झलक को दर्शाता है. इफ्तार के लिये शेख ज़ायद मस्जिद में तोप से गोला दागा जाता है जिसके बाद रोज़ेदार इफ्तार करते हैं.

Image Source: Google

मस्जिद के बाहर के हिस्से में रमज़ान के अवसर पर टैंट भी लगाये जाते हैं. इसके अलावा कई लम्बे लम्बे दस्तर ख्वान लगते हैं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस मस्जिद में हर साल रमज़ान के मौके पर हर दिन करीबन 25000 से 30,000 हजार रोजादार इफ्तार करते हैं.

Image Source: Google

रिपोर्ट के अनुसार 2004 से शुरू हुई इस मस्जिद में हर साल ऐसे ही इंतजामों देखने को मिलते हैं. रमज़ान के महिने में सैकड़ों की तादात वाले स्टाफ़ खुद इफ़्तार बनाकर रोजेदारों को कराते हैं. इफ्तार के लिए सामानों का आकड़ा काफी चौंकाने वाला रहता है. यहां चिकेन से लेकर लगभग सभी सामान क्विंटल में बनाए जाते हैं.