बाबरी मस्जिद के बाद अब VHP का अगला टार्गेट ज्ञानवापी मस्जिद, 17 फरवरी से शुरू हो रही हैं...

बाबरी मस्जिद के बाद अब VHP का अगला टार्गेट ज्ञानवापी मस्जिद, 17 फरवरी से शुरू हो रही हैं…

अयोध्या में राम का भव्य मंदिर निर्माण को लेकर नवगठित ट्रस्ट की ओर से मंदिर निर्माण और उससे जुड़ी गतिविधियों के लिए ब्लू प्रिंट बनाए जाने की कवायद शुरू हो गई है। इसको लेकर विश्व हिंदू परिषद (विहिप) काफी उत्साहित है। हलाकि, विहिप अब दूसरे मुद्दों पर आगे बढ़ने लगी है। विहिप ने तय किया है कि अब काशी, ज्ञानवापी मस्जिद और मथुरा के मुद्दे को आगे बढ़ाया जाए।

मिली जानकारी के अनुसर इस मामले को लेकर विश्व हिंदू परिषद रणनीति बनाने के लिए वाराणसी में 16 फरवरी को विहिप की एक महत्वपूर्ण बैठक भी होने वाली है। और बताते चले की 17 फरवरी से ज्ञानवापी मस्जिद के मुद्दे पर बनारस के सिविल कोर्ट में सुनवाई शुरू हो रही है।

इसी सुनवाई के बहाने विहिप ने अपने अभियान को तेज करने की रणनीति बनाई है। विहिप के एजेंडे में अब काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामला आ गया है। विहिप इसे शुरू से ही अयोध्या में राम मंदिर, बनारस का ज्ञानवापी मस्जिद और मथुरा में कृष्ण जन्मभूमि तीनों हमेशा से विहिप के मुख्य मुद्दे रहे हैं।

आपको बता दें अयोध्या का मामला अब खत्म हो चुका है। और ट्रस्ट को मंदिर निर्माण करना है। लिहाजा, विहिप अब काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर को मस्जिद से मुक्त कराने के लिए अपना अभियान चला रही है। हलाकि इस को लेकर विहिप के अंतर्राष्ट्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे खुलकर बोलने से बचते रहे है।

हलाकि काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद का भी झगड़ा बहुत पुराना है। और यह मामला भी कई सालो से कोर्ट में है। हिंदू पक्ष की ओर से कोर्ट में गुहार लगाई गई है कि पूरे परिसर का अयोध्या की तर्ज पर पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग से जांच कराई जाए, क्योंकि हर जगह मंदिर के सबूत हैं।

गौरलतब है कि राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने साफ साफ कर दिया था कि काशी और मथुरा जैसे विषय अब संघ के ऐजेंडे में नहीं है और न ही संघ इस मसले पर कोई अभियान या योजना बना रहा है।

Leave a comment