अलका लांबा और मस्जिद पर Twitter यूज़र ने किया भद्दा कमेंट, मिला ऐसा मुहतोड़ जवाब जिसकी उम्मीद नहीं की होगी !

दिल्ली में आम आदमी पार्टी की महिला विधायक अलका लांबा को कौन नहीं जानता, वह अपने बेबाक अंदाज से बात करने और अपनी निष्पक्ष भूमिका रखने की वजह से एक अलग ही पहचान बनाई हुई हैं. पिछले काफी समय से अलका लांबा अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर एक्टिव रहती हैं. और जब भी वह लोगों के बीच किसी समस्या को सुनने या किसी काम को देखने के लिए जाती हैं तो वह अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर उनके फोटो और वीडियो जरूर अपलोड करती हैं.

इसके अलावा सोशल मीडिया के जरिए ही वह लोगों से किसी भी वक़्त जुड़ने का काम भी जारी रखती हैं, क्योंकि यही एक ऐसा आसान और सुलभ जरिया है जिसके जरिए वह लोग भी उनसे घर बैठे कनेक्ट हो पाते हैं, और वह भी लोगों तक इसके जरिए अपनी बात पहुंचा देती हैं.

अभी हाल ही में उन्होंने एक ट्वीट किया जो कि आज रविवार 23 जून के दिन की बात है. उन्होंने यह ट्वीट अंग्रेज़ी में किया है, हम आपको इसका हिंदी अनुवाद करके बता रहे हैं. और इस ट्वीट को करते वक्त उन्होंने अपनी एक फोटो भी शेयर की थी और इस ट्वीट को लेकर एक ट्विटर यूजर ने उनके ट्वीट पर एक बेहद घटिया कमेंट किया है.

 ‘रविवार की सुबह है… और मैं अपने निर्वाचन क्षेत्र के लोगों से मिलने जा रही हूं, यह एक दिन होता है जब मैं छुट्टी की वजह से अपने निर्वाचन क्षेत्र के ज्यादा से ज्यादा लोगों से मिल सकती हूं’

आपको उपर फोटो में दिख रहा है कि अलका एक मेट्रो स्टेशन पर हैं, और उन्होंने अपने एक ही हाथ में मोबाइल और मेट्रो कार्ड लिया हुआ है. जो मोबाइल के नीचे उनकी दो उँगलियों के बीच फँसा हुआ है. इस घटिया मानसिकता के यूज़र ने अलका को ट्वीट कमेंट किया कि “मोबाइल के नीचे कंडोम रखकर संडे के दिन जामा मस्जिद क्यों जा रही हो”

इसके बाद गुस्से से भरी अलका लांबा ने इस ट्विटर यूजर को जिस तरह जवाब दिया है, वह शायद ही कभी जिंदगी में किसी महिला पर छींटाकशी करने की हिम्मत कर पाएगा. हालांकि अलका लांबा के जवाब देने के बाद वह ट्विटर यूजर इतना डर गया कि उसने वह ट्वीट और अपना अकाउंट ही डिसएबल कर लिया.

अलका लांबा दिल्ली के चांदनी चौक से विधायक हैं, और उनकी अपनी एक अलग ही पहचान है जो और नेताओं से उनको अलग बनाती है. तभी तो यही वजह है कि पिछले काफी सालों से अलका लांबा दिल्ली के चांदनी चौक से विधायक रहती आई हैं.

वे एक ऐसे नेता हैं जिनको किसी पार्टी के लेवल की जरूरत नहीं है, अगर कोई पार्टी टिकट भी ना दे तब भी अलका लांबा को उनके चाहने वाले, जिनके दिलों में उनकी जगह बन चुकी है वह हमेशा उनको वोट देकर अपने नेता के रूप में चुनते रहेंगे.