बड़ी खबर: आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा ने दिया इस्तीफा, जानिए वजह

आम आदमी पार्टी विधायक अलका लांबा ने पार्टी से इस्‍तीफा दे दिया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक उनकी प्राथमिक सदस्‍यता भी रद्द कर दी गई है। मामला पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दिये गये भारत रत्न सम्मान को वापस लेने की मांग पर गर्माया हुआ था । आप विधायक ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दिये गये ‘भारत रत्न’ सम्मान को वापस लेने की मांग संबंधी विधानसभा में पेश कथित प्रस्ताव का विरोध करते हुए शुक्रवार को कहा कि वह विधायक पद से इस्तीफा दे रही हैं।

अलका ने बताया मैं इस प्रस्ताव का समर्थन नहीं करती हूं। विधानसभा में इस प्रस्ताव को पेश किए जाने पर मैं सदन से बाहर आ गई। बाद में जब मुझे यह प्रस्ताव पारित होने की जानकारी मिली तो मैंने इस पर आप संयोजक अरंविद केजरीवाल से बात की। अलका ने कहा, मेरे वॉक आउट के बाद मुख्यमंत्री ने मुझे मैसेज किया कि मैं अपना इस्तीफा दे दूं।

चांदनी चौक से विधायक अलका लांबा ने कहा की, मैंने पार्टी के टिकट पर चुनाव जीता है, पार्टी चाहती है तो मैं इस्तीफा देने को तैयार हूं। अलका ने आगे कहा की राजीव गांधी ने देश के लिए कई बलिदान दिए हैं और विधानसभा में मैंने उनका भारत रत्न वापस लेने के प्रस्ताव का समर्थन नहीं किया पार्टी ने मुझसे इस्तीफा मांगा है क्योंकि मैं पार्टी के फैसले के खिलाफ खड़ी हुई।

अब इसकी जो सजा मिलेगी मैं उसके लिये तैयार हूं। लांबा ने कहा कि किसी व्यक्ति को किसी एक कार्य के लिये भारत रत्न नहीं मिलता है। देश के लिए जीवन पर्यन्त उल्लेखनीय कार्यों के लिए यह सम्मान दिया जाता है।

इसलिए किसी एक वजह से भारत रत्न वापस लेने की बात का समर्थन करना उचित नहीं है। उन्होंने कहा, राजीव जी ने देश के लिए बहुत सी कुर्बानीया दी है, इस बात को ने ही झुटलाया जा सकता और न ही भुलाया जा सकता है।