अलविदा जुमे और 27वीं रात पर इबादत के लिए दुनियाभर से आयी 20 लाख लोगों की भीड़ मक्का शरीफ में

रमज़ान का पवित्र महिना चल रहा है. दुनिया भर में रमज़ान के इस महीने का बेसब्री से इंतजार किया जाता हैं. रमज़ान के पाक महीने के आखिरी जुमे की नमाज़ शुक्रवार को अदा की गई जिसे आमतौर पर अलविदा जुमें की नमाज़ कहा जाता है. दुनिया भर में अलविदा जुमे की नमाज़ अदा की गई और हर जगह मुसलमानों ने इस दौरान भारी तादात में हिस्सा लिया.

अलविदा जुमे पर लगभग सभी मस्जिदों पर खूब रौनक दिखी और भारी तादात में मुस्लिम नमाज़ अदा करने के लिए मस्जिद पहुंचे. वहीं इस दौरान मुस्लिम धर्म की सबसे बड़ी मस्जिदों में अलविदा जुमे का नजारा शानदार रहा. यहां देश विदेश से बड़ी तादात में लोग खुदा की इबादत करने के लिए पहुंचे.

muslim prayer
Image Source: Google

बताया जा रहा है कि दो मिलियन से अधिक ज़ायरीनों ने आखिरी जुमे की नमाज अदा करने के लिए मक्का में ग्रैंड मस्जिद और मदीना में पैगंबर साहब की मस्जिद में अपनी हजारी दर्ज कराई. इसके साथ ही रमजान की 27 वीं रात में तरावीह और कियामुल्लाईल की ईशा और विशेष रात की नमाज अदा की गई.

इस साल के रमज़ान के पाक महीने के आखिरी जुमे को इन पवित्र मस्जिदों में वफ़ादारों का एक अभूतपूर्व प्रवाह रहा जो रमज़ान की 27 वीं रात पर इबादत करते और नमाज़ अदा करते नज़र आये. इसे व्यापक रूप से लैलातुल क़द्र या द नाइट ऑफ़ पावर माना जाता है.

Makkah
Image Source: Google

सुबह से शाम तक ज़ायरीनों ने क़ुरान की तिलावत की. वफादार लोगों का जमावड़ा दो पवित्र मस्जिदों किंग सलमान के कस्टोडियन की सीधी निगरानी में हुआ था. आपको बता दें कि किंग सलमान काबे शरीफ के आसपास के क्षेत्रों में रमजान के आखिरी दस दिनों को बिताने के लिए आए हुए है.

वहीं ग्रैंड मस्जिद यानी मस्जिद अल हरम में जुमे की सुबह से इबादत करने वालों का भारी हुजूम नजर आया. चुंकि यह आखिरी जुमे की नमाज थी और साथ ही विशेष रात की नमाज थी इसलिए हर कोई इसमें शामिल होना चाहते हैं.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *