Home विदेश अमेरिका के इतिहास में पहली बार मुस्लिम युवती बनी कांग्रेस बैठक की अध्यक्ष, दुनिया भर से मिल रही हैं बधाइयाँ

अमेरिका के इतिहास में पहली बार मुस्लिम युवती बनी कांग्रेस बैठक की अध्यक्ष, दुनिया भर से मिल रही हैं बधाइयाँ

अमेरिका के इतिहास में पहली बार मुस्लिम युवती बनी कांग्रेस बैठक की अध्यक्ष, दुनिया भर से मिल रही हैं बधाइयाँ

रशीदा तलीब ने बुधवार की दोपहर को एक और ऐतिहासिक प्रदर्शन करते हुए हाउस फ़्लोर की अध्यक्षता की. इसी के साथ ही वह सदन की अध्यक्षता करने वाली पहली मुस्लिम महिला बन गई है. बुधवार को मिनेसोटा डेमोक्रेटिक रिप्रेजेंटेटिव इलहान उमर के साथ आने के बाद हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स की कार्यवाही शुरू हुई जिसके बाद उनकी बारी आई.

इसी के साथ ही वह अमेरिकी कांग्रेस में शामिल होने वाली पहली मुस्लिम महिला बन गईं है. इसे लेकर तालीब ने न्यूज़ एजेंसी सीएनएन को बताया कि उसका परिवार घर से देखने के लिए सी-स्पैन में ट्यूनिंग करेगा. उन्होंने कहा कि मैं उत्साहित हूं और मेरा परिवार भी काफी उत्साहित है.

Alexandria Ocasio Cortez
Image Source: Google

आपको बता दें कि यह अमरीका के इतिहास में पहली बार हुआ है जब एक मुस्लिम महिला ने कांग्रेस की एक बैठक की अध्यक्षता की. रशीदा तालिब अमरीकी क्रांग्रेस में डेमोक्रेट की सांसद है. रशीदा तालिब मूल रूप से फिलिस्तीनी हैं और वह मिशिगन से डेमोक्रेटिक सांसद हैं.

उन्होंने बुधवार को अमरीकी कांग्रेस की अध्यक्षता एक भूमि संबंधी विधेयक पर चर्चा के दौरान की. इससे पहले पिछले हफ्ते भी डेमोक्रेट सांसद एलेक्ज़ेंडरिया ओकासियो कार्टज़ ने अमरीकी इतिहास के सब से कम आयु की अध्यक्षता का रिकार्ड तोड़ा था.

बता दें कि सदन के पटल पर कार्यवाही सदन के स्पीकर के नेतृत्व में ही होती है. स्पीकर की जगह उनकी पार्टी से आने वाले लोग ही सदन की अध्यक्षता करते हैं. वहीं तलिब ने सदन अध्यक्षता के अपने अनुभव के बारे में ट्वीट करते हुए लिखा कि डेट्रायट की एक लड़की के लिए बुरा नहीं है कि जब मैंने हाई स्कूल और कॉलेज में स्नातक करने के लिए अपने परिवार में स्कूल शुरू किया और पहली बार अंग्रेजी नहीं बोली.

यह एक गर्व का क्षण था और यह सिर्फ थोड़ा और अधिक डूब गया कि मैं कांग्रेस में सेवा कर रही हूं. बता दें कि डेमोक्रेट सांसद रशीदा तालिब को अमरीकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के कट्टर आलोचकों में से एक माना जाता है. जिसके चलते उन्हें कई बार पद से हटाए जाने की मांग भी की जा चुकी हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here