VIDEO: पिता मुख्तार अंसारी के बरी होने के बाद, उनके बेटे ‘अब्बास अंसारी’ का बड़ा बयान

नई दिल्ली: स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की ह$त्या के मामले में पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी समेत सभी आरोपियों को बरी कर दिया है. बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की 2005 में ह$त्या कर दी गई थी. राय गाजीपुर जिले की मोहम्दाबाद विधानसभा से विधायक थे. बता दें कि मुख्तार अंसारी का पूर्वांचल में एक अलग रुतबा हुआ करता है. यही वजह है कि बसपा ने उन्हें पार्टी से निकाल दिया था, मगर उनके कद को देखते हुए दोबारा पार्टी के टिकट से चुनाव लड़वाया।

मुख्तार अंसारी मऊ निर्वाचन क्षेत्र से विधान सभा के सदस्य के रूप में रिकॉर्ड पांच बार विधायक चुने गए हैं। अंसारी ने बहुजन समाज पार्टी BSP के एक उम्मीदवार के रूप में अपना पहला विधानसभा चुनाव जीता था. अंसारी 1996 में पहली बार बसपा की टिकट से चुनाव जीते थे जिसके बाद 2002 में और 2007 में उन्होंने निर्दलीय होकर चुनाव लड़ा और दोनों बार जीत हासिल की बाद में 2007 में ही वो फिर से बसपा में शामिल हो गये।

पूर्व विधायक कृष्णानन्द राय मामले में मुख्‍तार अंसारी सहित अन्‍य आरोपियों को कोर्ट से बड़ी राहत मिलने के बाद मुख़्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी ने प्रतिक्रिया आई है उन्होंने कहा की यह न्याय की जीत है. मैं इस देश की न्याय पालिका को सलाम करता हूं. जय हिंद।

आपको बता दें पूर्व विधायक कृष्णानन्द राय मामले में आरोपियों में संजीव माहेश्वरी एजाजुल हक़ मुख्तार अंसारी अफ़ज़ाल अंसारी राकेश पांडेय रामु मल्लाह मंसूर अंसारी और मुन्ना बजरंगी शामिल थे जिसमे से मुन्ना बजरंगी की मौ$त हो चुकी है. सीबीआई कोर्ट ने इन सभी आरोपियों को बरी कर दिया है।

 

मुख़्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी ने कहा कि आज मुख्तार अंसारी अफ़ज़ाल अंसारी साहब को दिल्ली की सीबीआई कोर्ट से बरी कर दिया गया है इस केस को उनके ऊपर साजिश के तहत लगाया गया था ताकि उनकी छवि को खराब किया जा सके।

लेकिन आज आया कोर्ट का फैसला अन्याय के खिलाफ न्याय की जीत है. मैं इस देश की न्यायपालिका को सलाम करता हूं. जय हिंद बहुत-बहुत धन्यवाद