अर्नब गोस्वामी की ज़मानत की अर्जी ख़ारिज, HC ने कहा पहले यह काम तो करलो

अर्नब गोस्वामी, फिरोज शेख और नीतीश सारदा को मुंबई पुलिस ने चार नवंबर की सुबह उनके घर से गिरफ़्तार किया था

महाराष्ट्र/मुंंबई: रिपब्लिक टीवी (Republic TV) के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्‍वामी (Arnab Goswami) की तरफ से आज बॉम्‍बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) में उनकी ज़मानत के लिए अर्ज़ी लगायी गयी थी, जिसको बॉम्बे हाई कोर्ट ने ख़ारिज कर दिया.

बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा कि आपको लोअर कोर्ट जाना चाहिए, वहां लोअर कोर्ट चार दिन के अंदर अर्नब गोस्वामी की जमानत के लिए उनके द्वारा दी गयी अपील पर फैसला करेगा. अब एक बार फिर से अर्णब गोस्वामी को मुंबई की जेल में रहना होगा.

कानूनन कोई भी केस पहले लोवर कोर्ट की प्रक्रिया से होकर गुज़रता है, इसके बाद ही आप हाईकोर्ट में किसी काम के लिए जा सकते हैं. इसी को ध्यान में रखते हुए अर्नब गोस्वामी को बोम्बे हाई कोर्ट ने निचली अदालत जाने को कहा है.

आपको बता दें कि बॉम्‍बे हाईकोर्ट में आज सुनवाई के पहले ही अर्नब ने सोमवार दोपहर जमानत के लिए सेशन कोर्ट का रुख किया था. साल 2018 में एक इंटीरियर डिजाइनर और उनकी मां को आत्मह’त्या करने के लिए उकसाने के मामले में गिरफ्तार किया गया था.

हालाँकि रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी इस बात से लगातार इनकार करते रहे हैं कि इस मामले में उनको जानबूझकर फंसाया जा रहा है.