ओवैसी ने की लोगो से अपील, इस वतन-ए-अज़ीज़ को बचा लो, मौजूदा गोडसे हिन्दुस्तान को…

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तिहादुल मुसलमीन AIMIM के नेता और हैदराबाद से सांसद बेरिस्टर असदउद्दीन ओवैसी ने गांधी जयंती के मौके पर एक बड़ा बयान सामने आया है जिसके चलते उन्होंने भाजपा पर परोक्ष रूप से सियासी तंज कस कर निशाना साधा है| साथ ही ओवैसी ने बीजेपी की सचाई सबके सामने लाते हुए अपने बयान में उन्होंने खूब आलोचना भी है| बता दें कि ओवैसी ने बुधवार को अपना बयान देते हुए कहा कि गोडसे ने तो महात्मा गांधी को गो’ली मा’री थी मगर मौजूदा गोडसे गांधी के हिंदुस्तान को खत्म करना चाहते हैं।

आपको बता दें कि ओवैसी ने अपने बयान में कहा कि जो गांधी को मानने वाले हैं, मैं भारत के भाइयों बहनों से अपील कर रहा हूं कि यदि आपके दिलों में महात्मा गांधी के लिए मोहब्बत है तो इस वतन-ए-अजीज को बचा लो। बता दें कि AIMIM सांसद महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक रैली को संबोधित कर रहे थे जिसके चलते उन्होंने कहा कि यदि आज पीएम मोदी को कोई चुनौती दे रहा है तो वह मजलिस है।

इसके साथ ही औवेसी ने अपने भाषण में राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी का जिक्र करते हुए कहा कि गांधीजी ने कहा था कि मुसलमा’नों पर जु’ल्म बं’द होना चाहिए| मैं तब तक खाने को हाथ नहीं लगाउंगा जब तक मु’सलमा’नों पर जु’र्म बं’द नहीं हो जाता।

इसी के चलते ओवैसी ने कहा कि तुम गांधी को मारने वालों को अपना नेता मानते हो और दूसरी तरफ तुम देश के सामने गांधी के भक्त बनते हो। ओवैसी ने कहा कि मु’सलमा’नों से अधिक प्रेम करने के कारण महात्मा गांधी को मा’रा गया था।

इसके बाद ओवैसी ने कहा कि आज गांधी की 150वीं जयंती मनाई जा रही है लेकिन गांधी के पैगाम को समझने का प्रयास नहीं किया जा रहा है। औवेसी ने दिल्ली में सिख दं’गों के साथ ही बाबर मस्जिद वि’ध्वं’स का भी अपने भाषण में जिक्र करते हुए कहा कि तुम गांधी के नक्शेकद’म पर चल रहे हो या गोडसे के न’क्शे कदम पर, यह फैसला मैं तुम पर छोड़ता हूं।

ओवैसी ने कहा कि आज गांधी के नाम पर सियासी दुकान चमकाई जा रही है। साथ ही उन्होंने ने साल 2014 से 2018 तक महाराष्ट्र में किसानों की आ’त्मह#त्या का मु’द्दा उठाते हुए कहा कि साल 2014 से 2018 में हर सप्ताह 8 किसानों ने आ’त्मह$त्या की।

इसके बाद उन्होंने झारखंड में तबरेज अंसारी की मॉब लि’चिं’ग के मामले का भी जिक्र करते हुए कहा कि उन लोगों की गांधी से मोहब्बत और उनका पैगाम कहाँ गया था जब तबरेज अंसारी को बे’रह’मी से मा’रा गया था।

जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले ओवैसी की सभा में टिकट बंटवारे से नाराज पार्टी कार्यकर्ताओं ने हंगा’मा खड़ा कर दिया था। हंगा’मा करने वाले लोग जावेद कुरैशी के समर्थक बताए जा रहे थे साथ ही कहा जा रहा है कि ये लोग जावेद कुरैशी को टिकट नहीं दिए जाने से नाराज थे।

इसके साथ ही आपको बता दें कि जावेद कुरैशी औरंगाबाद मध्य से चुनाव लड़ने के लिए अपनी दावेदारी पेश कर रहे थे। मालूम हो कि एआईएमआईएम ने महाराष्ट्र की 288 में से 24 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारे हैं।

साभार: #Jansatta