VIDEO: हैदराबाद दु’ष्क’र्म के आरोपि’यों के ए’नकाउं’टर पर बोले असदुद्दीन ओवैसी कहा- मैं इस ए’नकाउं’टर के…

हैदराबाद में महिला वेटनरी डॉक्टर से दु’ष्क’र्म और ह#त्या के आरो’पियों के ए’नकाउं’टर को लेकर अलग-अलग राय सामने आ रही हैं। हलाकि इस ए’नकाउं’टर की देशभर में तारीफ हो रही है। तो वही कुछ लोगों ने इस ए’नकाउं’टर पर सवाल खड़े कर रहे हैं। पुलिस को मीडिया के साथ ही कोर्ट के सामने कई सवालों के जवाब देने होंगे, जिसमें किन हालत में ए’नकाउं’टर किया गया? री’क्रिएट के दौरान पुलिस कस्टडी में आरो’पी कैसे भागने लगे? आरो’पी अगर भाग रहे थे तो पहले उनके पैर में गो’ली मा’री गई थी या नहीं? जैसे सवाल शामिल है।

ए’नकाउंट’र पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि अभी पूरे मामले के बारे में सुना है. सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार हर मु’ठभे’ड़ की जांच की जानी चाहिए. क्योकि इस मामले में राज्य सरकार बहुत सक्रिय थी। ओवैसी ने कहा की मैं इस ए’नकाउं’टर के खिला’फ हूं। साथ ही उन्होंने कहा कि यहां तक कि राष्‍ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने भी इस ए’नकाउं’टर का संज्ञा’न लिया है।

क्या है हैदराबाद ए’नकाउं’टर का पूरा मामला

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार ए’नकाउं’टर पर तेलंगाना पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि महिला पशु चिकित्सक से दु’ष्क’र्म और ह#त्या के दो आरोपियों ने सुबह ह’थिया’र छीनने के बाद पुलिस पर गो’लि’यां चलाई, जिसके बाद पुलिस ने ‘जवाबी फा’य रिं’ग की। साइबराबाद पुलिस आयुक्त सी वी सज्जनर ने यहां संवाददाताओं को बताया कि आरोपियों में एक मोहम्मद आरिफ ने सबसे पहले गो’ली चला’ई थी।

वही वारदात स्थल पर पुलिस की जो टीम उन्हें लेकर वहां पहुंची थी, उनपर भी ईं’ट-प’त्थ’रों से हम’ला किया गया। उन्होंने कहा कि छीने गए ह’थिया’र ‘अनलॉक’ फा’यरिं’ग के लिए तैयार स्थिति में थे। वही गो’लीबा’री की घट’ना जब हुई, उस समय आरोपियों के हा’थों में ह’थक’ड़ी नहीं थी और यह घट’ना आज सुबह पांच बजकर 45 मिनट से सवा छह बजे के बीच हुई।

मु’ठभे’ड़ का ब्यौरा देते हुए पुलिस अधिकारी ने कहा कि बरामद किए गए एक मोबाइल फोन और अन्य सामग्री के मद्देनजर आरोपि’यों के ‘कबूलनामे के आधार पर पुलिस टीम वहां उन्हें लेकर गयी थी। वहाँ पहुंचने के दौरान सभी चारों आरो’पी एकसाथ हो गए, और उन्होंने ईं’ट-प’त्थ’र तथा अन्य चीजों से पुलिस द’ल पर हम’ला बोल दिया।

इसके बाद उन्होंने हमारे दो अधिकारियों से उनके ह’थिया’र छी’न लिए और गो’लीबा’री सुरु कर दी। पुलिस अधिकारी ने कहा, हमारे अधिकारियों ने संयम रखा और उन्हें आ’त्मसमर्प’ण के लिए कहा। लेकिन, उन्होंने नहीं सुना और वो लोग गो’लीबा’री और हम’ला करते रहे, इसके बाद हमारे लोगों ने जवाबी कार्रवाई की और इसमें चारों आरो’पी मा’रे गए।

वही इस मु’ठभे’ड़ में घा’यल हुए एक पुलिस उप निरीक्षक और एक कांस्टेबल के सि’र तथा अन्य हिस्से में चोट आयी और उन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वही सज्जनर ने कहा कि पुलिस प्रदेश के अन्य भागों व आंध्र प्रदेश और कर्नाटक से इससे मिलते-जुल’ते मामलों का ब्योरा जुटा रही है ताकि इनमें चारों आरोपियों की किसी भूमिका का पता लगाया जा सके।