VIDEO: आजम खान का सीएम योगी पर पलटवार, कहा- अली और बजरंग बली मिलकर लगाएंगे….

लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान सभी पार्टियां एक-दुसरे पर जमकर हमले करने में लगी हुई है. आरोप-प्रत्यारोप का दौर तेजी से बढ़ता जा रहा है और सभी सीमाओं को लांघ कर जमकर बयानबाजी की जा रही है. धर्म, जाति, सेना, राष्ट्रवाद, देशभक्ति और भगवान के नाम पर जमकर वोट मांगे जा रहे है. सभी नियमों को ताक पर रखकर भड़काऊ बयानबाजी करने से भी नेता बाज नहीं आ रहे है.

इसी बीच इन दिनों उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ चर्चा का विषय बने हुए हैं. सीएम योगी ने यूपी में गठबंधन और बीजेपी की टक्कर को अली और बजरंग बलि की टक्कर का नाम देने वाला बेहद ही विवादित बयान दिया.

इसके बाद चौतरफा सीएम योगी की आलोचना की जा रही हैं. योगी के अली और बजरंग बली वाले बयान पर अब समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और रामपुर से पार्टी के उम्मीदवार आजम खान ने भी तीखी प्रतिक्रिया दी है.

आज़म खान ने सीएम योगी आदित्यनाथ को करारा जवाब देते हुए बजरंगबली की जगह बजरंगअली का नारा लगवाया. साथ ही उन्होंने पीएम मोदी पर पाकिस्तान का एजेंट होने का आरोप भी लगाया है. आजम खान रामपुर में गुरुवार को एक सभा को संबोधित कर रहे थे.

इसी दौरान उन्होंने कहा कि बीजेपी वाले मुझे पाकिस्तान का एजेंट कहते है, लेकिन नवाज शरीफ से लेकर पीएम इमरान खान तक पीएम मोदी के दोस्त हैं. आजम खान ने कहा कि पाकिस्तान के पीएम खान ने कहा है कि अगर पीएम मोदी फिर सत्ता में आते हैं तो दोनों देशों के बीच विवाद सुलझ जाएगा.

आजम खान ने पूछा कि मोदी-इमरान की ये कैसी मिलीभगत है? पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए आजम खान ने कहा कि आप कल नवाज शरीफ के दोस्त थे और आज इमरान खान आपके दोबारा पीएम बनने का इंतजार कर रहा है.

इसके बाद उन्होंने भीड़ से सवाल करते हुए कहा कि बताओ लोगों पाकिस्तान का एजेंट मैं हूं या पाकिस्तान का एजेंट.. इतने में भीड़ की आवाज आती है मोदी है-मोदी है.

इसके साथ ही आजम खान ने अली और बजरंगबली के मामले को लेकर लोगों से अपील करते हुए कहा कि आपस के रिश्ते को अच्छा करो अली और बजरंग में झगड़ा मत कराओ मैं तो एक नाम दिए देता हूं बजरंग अली.

इसके बाद उन्होंने सीएम योगी पर हमला करते हुए कहा कि आपने कहा था कि हनुमान जी दलित थे. फिर किसी ने कहा हनुमान जी ठाकुर थे. फिर किसी ने जाट कहा. फिर किसी ने बताया कि वह हिंदुस्तान के नहीं बल्कि श्रीलंका के थे.

एक मुसलमान एमएलसी ने कहा कि वे मुसलमान थे. तब जाकर झगड़ा ही खत्म हो गया. अब हम अली और बजरंग एक हैं. आजम खान ने अपने विरोधियों पर वार करते हुए कहा कि बजरंग अली तोड़ दो दुश्मन की नली, बजरंग अली ले लो जालिमों की बलि.