बाबा रामदेव ने मुसलमा’नों के खिला’फ फिर उगला जहर कहा- भारत में रहने वाला 99% मुसलमा’न…

पहले योग फिर कारोबार करने वाले बाबा रामदेव ने अयोध्या पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राम मंदिर के लिए सरकार को समर्थन दिया है. रामदेव ने अयोध्या विवाद पर आए फैसले के बाद आजतक से खास बातचीत में कहा की कानून व्यवस्था कायम रखने और शांति स्थापित करने के सरकार के प्रयासों की सराहना भी की है। योगगुरु रामदेव ने कहा है कि भगवान राम ना सिर्फ हिंदुओं के लिए बल्कि मुसलमा’नो के लिए भी उतने ही पूज्य हैं क्योंकि देश के 99 प्रतिशत मुस्लि’म धर्मांतरित हैं।

इसके अलावा बाबा रामदेव ने अयोध्या मसले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले और उसके बाद देशवासियों द्वारा जिस तरह से इस फैसले को स्वीकार किया गया है, उसकी भी तारीफ की। रामदेव ने कहा कि अयोध्या में बनने वाला मंदिर भव्य और भारतीय संस्कृति को परिलक्षित करने वाला होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि मैं तो खुले तौर पर मोदी जी का समर्थक हूं और कहता हूं कि अगर देश में नरेंद्र मोदी और अमित शाह का नेतृत्व न होता तो अयोध्या पर फैसला नहीं आता, रामदेव ने कहा कि इतने बड़े फैसले के लिए राजनीतिक इच्छाशक्ति और साहस चाहिए क्योंकि कानून व्यवस्था और इंतजामों का बं’दोब’स्त करना होता है, ये लल्लू-पंजू के बस की बात नहीं क्योंकि उन्हें पता ही नहीं देश कैसे चलना है।

आजतक से खास बातचीत में बाबा रामदेव ने कहा की अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसला ना सिर्फ हिंदुओं के लिए बल्कि देश के सभी मुसलमा’नो के लिए भी है क्योकि भगवान राम उनके पूज्य हैं. और 99 प्रतिशत मुस्लि’म धर्मांतरित हैं। जो मुसलमा’न होने से पहले हिन्दू था। उन्होंने कहा कि ‘मैं इसे राष्ट्रीय एकता के परिपेक्ष्य में देख रहा हूं। जैसे कैथोलिकों के लिए वेटिकन, मुस्लि’मों के लिए मक्का, सिखों के लिए स्वर्ण मंदिर हैं, वैसे ही हिंदुओं के लिए अयोध्या है।

आपको बता दें कि बीती 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले पर अपना फैसला सुनते हुए विवादित स्थल पर राम मंदिर के निर्माण के निर्देश दिए थे। इसके साथ ही कोर्ट ने तीन माह में ट्रस्ट बनाकर राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरु कराने के निर्देश दिए थे। वही सुन्नी वक्फ बोर्ड को मस्जिद निर्माण के लिए 5 एकड़ जमीन भी देने का आदेश दिया है।

साभार: आजतक