बरौनी ग्वालियर एक्सप्रेस ट्रेन में छा’पा, मौलाना सहित 28 बच्चों को किया गिरफ्तार

उन्नाव: बरौनी ग्वालियर मेल एक्सप्रेस ट्रेन से 28 बच्चों को बांदा ले जा रहे मौलवी को जीआरपी पुलिस ने ट्रेन से उतार लिया है। मौलाना से पूछ ताछ में उन्होंने बताया कि वह बच्चों को पढ़ाने के लिए ले जा रहा है। बच्चों से बात पर पता चला कि वह कानपुर में पढ़ाने की बात कहकर घर से लाया था। जीआरपी पुलिस ने परिजनों से संपर्क करने के साथ ही बच्चाें व मौलवी को फ़िलहाल चाइल्डलाइन को सौंपा दिया है।

आपको बता दें बरौनी ग्वालियर एक्सप्रेस ट्रेन से 28 बच्चों को स्थानीय जंक्शन रेलवे स्टेशन पर उतारा गया। एक साथ 28 बच्चों के उतारे जाने की खबर से ह’ड़कं’प मच गया। पुलिस ने मौके पर से मौलाना को भी हि’रासत में लेकर पूछताछ कर रही है। पूछताछ के दौरान मौलवी ने बताया कि वह बिहार से बच्चों को पढ़ाने के लिए बिहार से बांदा कलिंदर के मदरसे में ले जा रहा है।

Image Source: Google

वही जीआरपी पुलिस ट्रेन से उतारे गए सभी 28 बच्चों के परिजनों को फोन पर जानकारी ली तो पता चला कि कुछ बच्चे घर से मदरसे के लिए पढ़ने के लिए निकले थे। पुलिस के अनुसार बच्चों के परिजन आ रहे हैं। वही बच्चों को चाइल्ड लाइन भेजा गया है।

पुलिस के अनुसार बरौनी ग्वालियर एक्सप्रेस में बड़ी संख्या में बच्चों को लेकर एक मौलवी सफर कर रहा है कि जानकारी सो नंबर पर मिलने पर सक्रिय हुई रेलवे पुलिस ने उन्नाव में ट्रेन रुकते ही छा’पा मा’रा। S9 कोच में पुलिस के घुसते ही ह’ड़कं’प मच गया। रेलवे पुलिस ने S9 से 28 बच्चों को बाहर निकाला। जिनकी उम्र 8 से 14 वर्ष के बीच है।

ट्रैन से उतारे गए सभी बच्चे बिहार के अररिया जिले के रहने वाले है। मौलवी मोहम्मद जाहिर पुत्र मोहम्मद हासिम निवासी इसरवा थाना महलगांव अररिया बिहार ने बताया वह बच्चों को पढ़ाने के लिए बांदा कलिंदर के मदरसा में पढ़ाने के लिए ले जा रहा था।

वही मानव तस्करी की आशंका जताते हुए रेलवे पुलिस ने बच्चों के माता-पिता को घ’टना की जानकारी दी। परिजनों ने बताया कि उनके बच्चे पढ़ने के लिए घर से निकले हैं। मोहम्मद जाहिर पुत्र मोहम्मद हासिम निवासी इसरवा थाना महलगांव अररिया बिहार को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

साभार: patrika