बेहद गरीब मुस्लिम परिवार की 12 वर्षीय बेटी ने रोशन किया देश का नाम, पीएम मोदी ने भी बंधे तारीफों के पुल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पीएम बनने के बाद एक कार्यक्रम प्रारंभ किया है जिसे मन की बात नाम दिया गया है. पीएम मोदी अक्सर ही इस कार्यक्रम के जरिए अपने मन की बात देशवासियों से करते हैं. पीएम मोदी ने कल एक बार फिर से मन की बात की जो साल २०१८ का अंतिम कार्यक्रम था. पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम के दौरान कश्मीर के एक मुस्लिम परिवार की एक बारह वर्षीय बेटी हनाया निसार का जिक्र करते हुए उसकी जमकर तारीफें की साथ ही उसे मुबारकबाद भी दी है क्योंकि हनाया देश का नाम रोशन किया है.

हनाया निसार ने हाल ही में साउथ कोरिया में खेले गए कराटे चैंपियनशिप में भारत के लिए गोल्ड मेडल जीता कर देश का नाम रोशन किया है. इसी पर पीएम मोदी ने हनाया निसार को बधाई देते हुए उसकी खूब तारीफ की. मोदी ने हनाया की इस उपलब्धि का श्रेय उसके माता पिता को देते हुए उन्हें बधाई दी.

आपको बता दें कि 12 वर्षीय हनाया निसार साउथ कश्मीर के अनंतनाग सेक्टर के कोकरनाग की रहने वाली हैं. हनाया का परिवार बहुत ही गरीब है उनकी माली हालत काफी ख़राब है. हनाया हमेशा से ही देश के लिए कुछ करके देश का नाम रोशन करने का सपना देखती थी.

इसी उद्देश्य के साथ हनाया ने कराटे सीखना शुरू किया और इसमें उसके माता पिता ने भी पूरा साथ दिया उन्होंने हनाया के सपने को उड़ान देने का मन बना लिया और पैसों की तंगी के बाबजूद भी उसे कभी कोई कमी नहीं आने दी. माता-पिता के इसी सहयोग और कड़ी मेहनत और लगन के दम पर आज हनाया देश की नंबर वन कराटे खिलाड़ी बन गई.

हनाया जहां रहती है वह आतं$क प्रभावित क्षेत्र है किसी ने सोचा भी नहीं था कि इस इलाके में रहने वाली एक बच्ची अपने देश के लिए गोल्ड हासिल करेगी. हनाया ने साउथ कोरिया में हुए इंटरनेशनल कराटे चैंपियनशिप में देश के लिए गोल्ड मेडल जीता.

हनाया निसार कहती है कि कश्मीर में उसकी जैसी बहुत सी प्रतिभाएं छुपी हुई हैं बस उन्हें सरकार की मदद की जरूरत है. अगर सरकार उनकी खेल प्रतिभाओं को आगे बढ़ाने में मदद करे तो देश के लिए कश्मीर के बच्चे भी मेडल ला सकते हैं.