अधिकारी को धम’काया, बोला भाजपा विधायक का भतीजा हूँ कुत्ता बनाकर नं’गा करवा दूंगा

क्या किसी को गाड़ी चेक करने पर इतना गरम होते देखा है की वजह किसी को कुत्ता बनाने और नं’गा कर देने की धोंस देने लगे. दोस्तों आपने आए दिन भाजपा नेताओं की धोंस देने की खबरें और वीडियो बहुत देखे होंगे क्योंकि सत्ताधारी पार्टी की हनक इन छुट पुट नेताओं को दादागिरी करने की इजाज़त देती है. वो कहावत है न कि जब सैय्याँ भय कोतवाल तो डर काहे का, इधर इस केस में मामला चाचा का है.

आपने इससे पहले भी कई ऐसे मामले देखे होंगे जिनमें सत्ताधारी पार्टी के नेता या फिर उसके किसी रिश्तेदार ने अपना कोई काम करवाने को लेकर, किसी अधिकारी या कर्मचारी को हवा न भरी हो. अभी अभी उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद से ऐसे ही खबर सामने आ रही है.

Bhajpa vidhayak ki dhamki

हुआ ये कि कुछ पुलिस वाले दोपहिया वाहनों को नंबर प्लेट, लाइसेंस और हेलमेट वगैरह के लिए चेकिंग कर रहे थे तब उसी दौरान एक युवक की गाड़ी रोकी गई और गाड़ी रोकने के बाद उससे गाड़ी के लाइसेंस और कागजों के लिए पूछा गया. आपको बता दें कि जो लड़का बाइक चला रहा था उसके कानों में हेडफोन भी लगा हुआ था.

जब पुलिस ने उससे गाड़ी के कागजों के बारे में पूछा तो वह अपने आप को भाजपा विधायक का भतीजा बताने लगा, इस पर उन्होंने कहा कि हां भाई वो तो अपनी जगह ठीक है लेकिन आप गाड़ी के कागज बताओ. इस पर वो युवक उन अधिकारियों पर अपना रौब झाड़ने लगा.

farrukhabad

इस युवक ने उन अधिकारीयों से दो टूक शब्दों में बोल दिया कि ‘मैं भाजपा विधायक का भतीजा हूँ’ तुम्हें कुत्ता बना कर नं’गा कर दूंगा. बस इसके बाद क्या था अधिकारियों ने अपनी वर्दी पर बात आते ही अपनी कलम चलाते हुए कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी और इस बंदे की बाइक को सीज कर दिया.

एक भाजपा विधायक के भतीजे होने के नाते इस कदर दादागिरी, तो फिर वह भाजपा विधायक कैसे होंगे आप खुद ही अंदाजा लगा लीजिये. एक अधिकारी को कुत्ता बनाने की धम’की दी और उसको नं’गा करने की बात बेहद शर्मनाक है.

Vidhaka ki dhamki dene wala

वाहनों की चेकिंग करना हमारे पुलिस अधिकारियों का काम है, सुरक्षा के लिहाज से फिर चाहे वह किसी बड़े नेता की गाड़ी ही क्यु न हो. भाजपा विधायक का भतीजा होने का यह मतलब तो नहीं कि आप नियम और कानून को ताक पर रख देंगे.

ये घटना सेंट्रल जेल पुलिस चौकी के पास की है, जहाँ वाहन चेकिंग के दौरान इस तरह से इस बदतमीज युवक ने अधिकारी को जलील किया और सरकारी काम में भी बढ़ा पहुंचाई.

इन अधिकारी ने उसकी बाइक नंबर यूपी 76 यू/3648 को सीज कर दिया है, इस तरह सबके सामने अपनी बेइज्जती होने से यात्री कर अधिकारी एकदम मायूस से हो गए थे.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *