जिसने हमारे देश को आ$तंकी क़रार दिया उस बैठक का हिस्सा बनकर भाजपा सरकार ने तो देश हित को ही बेच डाला- कांग्रेस

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मुस्लिम देशों के एक बड़े संगठन आर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन (OIC) की हाल ही में अबुधाबी में बैठक हुई थी. इस बैठक में भारत को मुख्य अतिथि के तौर पर आमन्त्रित किया गया था. जिसके बाद भारत सरकार ने न्‍योता स्वीकार करते हुए युएई में आयोजित होने वाली OIC की विदेश मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लिया था. बैठक में हिस्सा लेने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज युएई पहुंची थी. इसके बाद अब कांग्रेस ने इस बैठक में हिस्सा लेकर मोदी सरकार पर देश हित से समझौता करने का आरोप लगाया हैं.

कांग्रेस पार्टी ने मोदी सरकार के इस बैठक में हिस्सा लेने के फैसले की निंदा की हैं. कांग्रेस ने अबूधाबी में आयोजित ओआईसी की बैठक में भारत के खिलाफ प्रस्ताव पारित होने और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बैठक में शामिल होने की कड़े शब्दों में निंदा की है.

Image Source: Google

दिल्ली के कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी प्रवक्ता मनीष तिवारी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि ओआईसी ने जम्मू-कश्मीर पर एक प्रस्ताव पारित किया है और उस प्रस्ताव में भारत को एक आतं$कवादी देश करार दिया गया. ओआईसी के प्रस्ताव में कहा गया कि भारत का जम्मू-कश्मीर पर अवैध कब्जा है.

तिवारी के अनुसार इस प्रस्ताव में कहा गया कि सारे ओआईसी देशों को मिलकर कश्मीरियों की मदद करनी चाहिए जैसा कि भारत अपने नागरिकों का ध्यान नहीं रख सकता है. कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि जिस तरह से आतं$कवाद को जम्मू-कश्मीर में प्रोत्साहित किया जा रहा है वह कौन कर रहा है यह सबको समझ आता है.

Image Source: Google

उन्होंने कहा कि हम एनडीए, बीजेपी सरकार, प्रधानमंत्री मोदी और उनकी विदेश मंत्री से पूछना चाहते हैं कि अबूधाबी जाकर भारत के सर्वोच्च राष्ट्रहित को आपने बेच दिया, क्या यही आपकी कूटनीतिक उपलब्धि है? भारत द्वारा ओआईसी के जिन प्रस्तावओं को नकार दिया करता था उन्हें तरजीह नहीं देता था.

वहां जाकर उस बैठक में हिस्सा लेकर, भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उनका अनुमोदन कर दिया. तिवारी ने कहा कि आप अबूधाबी गए लेकिन इसके बदले भारत को क्या मिला. भारत को एक आतं$कवादी राष्ट्र करार दे दिया गया और यह कहा गया कि जम्मू-कश्मीर भारत के अवैध कब्जे में है.

Image Source: Google

उन्होंने कहा कि भारत के सर्वोच्च राष्ट्रहित से इससे बड़ा और कोई खिलवाड़ नहीं हो सकता है. कांग्रेस पार्टी बीजेपी और एनडीए सरकार की कड़े शब्दों में निंदा करती हैं. उन्होंने कहा कि भारत जिन प्रस्तावों को तरजीह नहीं देता था उसे आपने जाकर अनुमोदन किया और ऐसे घटिया और घिनौने शब्दों में भारत की निंदा के आप हिस्सा बने.