CSDS के सर्वे में बड़ा खुलासा, भारत में मुसलमान सबसे ज़्यादा रा@ष्ट्रवा’दी, देखिए

नई दिल्ली: देशभर में सोशल मीडिया पर धHर्म और पार्टी को लेकर समर्थक आपस में भिBड़ते रहते है लेकिन इस बार एक सर्वे किया गया जिसके आंKकड़े चौंHकाने वाले है। भारत में पिछले कुछ सालो से राRष्ट्रवाVद की ऐसी परिभाSषा की जा रही है जिसके चलते देश भर में अल्पसं ख्यक को निशाना भी बनाया जाता है, आमतौर पर सोशल मीडिया पर धHर्म और पार्टी को लेकर समर्थक एक दूसरे को निशाना बनाते रहते है। जिसका खामियाजा नाNगरिको को उठाना पड़ता है।

सीएसडीएस नामक संSस्था द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार सोशल मीडिया इस्तेमाल करने वाले 19 प्रतिशत लोग यह मानते है कि भारत एक हिंDदू राष्ट्र है जबकि इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं करने वालो में से 17 प्रतिशत मानते है की भारत एक हिंDदू राष्ट्र है। यह सर्वे गत 2 महीने में कराया गया है और कुल 27 राज्यो के आंKकड़ों को संकलित कर इसकी पुUष्टि की गई है।

वही सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वालो में से 75 प्रतिशत लोगों का मानना है कि भारत एक से@क्यु लर देश है और सभी धDर्मो को मानने वालों को बराबर का दर्जा मिलना चाहिए वहीं इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं करने वालो में से 73 प्रतिशत लोगों की भी यही राय है।

इसी सर्वे के साथ एक और आंKकड़े सामने आए जिसमें से देश के 30 फीसदी लोग यह मानते है कि मुUस्लिम सबसे ज्यादा रा@ष्ट्र्वा दी होते है और देश के लिए मर मिटने के लिए तैयार है वहीं 15 फीसदी लोगों का मानना है कि मुUस्लिम राSष्ट्र्वा दी नहीं होते।

अब कुल आंकड़ों के अनुसार देखा जाए तो देश आज में आज भी सेक्युलर प्रवती के लोग ज्यादा है और उनका मानना सब बराबर है और यह देश सबका है। और जो ऐसा नहीं सोचते है वह शायद देश के सविधान में भी विश्वास नहीं रखते है।

सौजन्य: newsx24.in