अभी-अभी महाराष्ट्र में बनी भाजपा की सरकार, भारतीय राजनीति में बड़ा फेरबदल

अभी-अभी महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा फेरबदल हुआ है, जिसके चलते आज की सुबह देश के राजनीतिज्ञों में खलब’ली मची हुई है. भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर महाराष्ट्र पर कब्जा कर लिया है. देवेंद्र फडणवीस ने राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी एनसीपी के साथ सरकार बनाने का दावा पेश किया और देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. महाराष्ट्र में कोई सरकार नहीं बना पा रहा था, जिसके चलते राष्ट्रपति शासन लागू करना पड़ा.

उसके बाद से ही शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस मिलकर रोज कई मीटिंग कर रहे थे. इसके बाद भी वह किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पा रहे थे. हालांकि बीती शाम खबर आई कि शिवसेना का ही मुख्यमंत्री बनेगा और इस पर कांग्रेस की तरफ से मुहर भी लग चुकी थी.

उन्होंने 5 साल के लिए शिवसेना का मुख्यमंत्री बनाए जाने पर सहमति जता दी थी, लेकिन आज रात भर में ही पासा पलट गया और शनिवार की सुबह 6:00 बजे से पहले ही राष्ट्रपति शासन हटा दिया गया, और सुबह 8:00 बजे भाजपा के देवेंद्र फडणवीस को शपथ दिला दी.

उनकी शपथ के दौरान ही एनसीपी के नेता अजीत पवार को उप मुख्यमंत्री की शपथ दिलाई गई. आज सुबह ही जैसे इस बात की खबर लगी तो देश भर की राजनीति में एकदम भूचा’ल आ गया. पूरे देश में इस बात की चर्चा बहुत जोरों पर है कि यह एकदम से क्या हो गया.

क्योंकि कल शाम को एक महा बैठक हुई थी जिसमें शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाए जाने पर मोहर लगी थी. इधर तमाम विपक्ष के नेता बीजेपी को कोसते हुए नजर आ रहे हैं’ और तमाम विपक्ष के लोगों ने अपने-अपने टि्वटर हैंडल से भाजपा की ओर से उठाया गया एक शर्मनाक कदम बताया है.

फिलहाल इस बात यह बात बड़ी दिलचस्प है कि अगर भाजपा ने एक बार फिर साबित कर दिया कि वह राजनीति की चाण’क्य है. कुछ नेताओं का बोलना है कि यह भाजपा का पुराना पैं’तरा है, सत्ता पाने के लिए बीजेपी किसी भी हद तक जा सकती है.