इस देश का मुसलमान किराएदार नहीं, हिस्‍सेदार हैं, बीजेपी के सत्ता में आने से डरने की जरूरत नहीं, की खास अपील: ओवैसी

2019 के लोकसभा चुनाव के बाद भाजपा सरकार सत्ता में आया गयी है, इसके साथ ही देशभर से अल्पसंख्यक समुदाय के साथ ज़ुल्म करने की एक के बाद एक कई घटनाएँ सामने आने लगी हैं. दर का माहोल तो पहले से ही था, खैर हाल ही में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी शुक्रवार को एक बयां देते हुए बोले कि भारतीय मुसलमानों को भाजपा के सत्ता में आने के बाद वो किसी भी बात को लेकर न डरें. क्योंकि हमारे देश का संविधान इस देश के हर एक नागरिक को उसके धार्मिक स्वतंत्रता की आजादी देता है.

एआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने ये बयान एक मस्जिद में तक़रीर करते वक़्त दिया था. उन्होंने कहा, ‘‘भारत का कानून, संविधान हमें इस बात की इजाजत देता है कि हम अपने धर्म का पालन करें. ओवैसी बोले जब हमारे देश के प्रधानमंत्री मंदिर जा सकते हैं तो हम भी तो गर्व के साथ अपनी मस्जिद जा सकते हैं.

असदुद्दीन ओवैसी बोले कि अगर कोई ये समझता है की हमारे हिंदुस्तान के वज़ीर-ए-आज़म 300 सीटें जीतने के बाद हिंदुस्तान पर अपनी मनमानी करेंगे तो यह कभी नहीं हो सकता. संविधान का हवाला देते हुए हम वज़ीर-ए-आज़म से एक बात हम कहना चाहते हैं कि ओवैसी आपसे लड़ेगा, मज़लूमों के लिए, उनके इंसाफ की लड़ाई के लिए लड़ेगा.

ज्ञात हो की भाजपा के जीतने के बाद राम मंदिर के मुद्दे को बल मिला है, हालांकी उससे किसी को आपत्ती नहीं है. लेकिन जिस तरह से अल्पसंख्यक समुदाय विशेष को गाय की रक्षा के नाम पर जिस तरह से निशाना बनाया जा रहा है वो सही नहीं है.

इस देश की आजादी में मुसलमानों की भूमिका भी रही है, देश में हिन्दू मुस्लमान करके भाईचारे को ख़तम करने वाले लोग अक्सर ये बात क्यों भूल जाते हैं. और इस देश की अतिहसिक इमारतों को जो उनके द्वारा बनाई गयीं थीं. ताजमहल, लालकिला, चारमीनार और ऐसी न जाने कितनी अनगनत धरोहरें.