यूपी में भाजपा नेता ने शिवलिंग तोड़ा, 200 लोगों के साथ नेता पर भी हुआ केस दर्ज

उत्तर प्रदेश में आये दिन कुछ न कुछ खबर आती रहती है यहां अराजक तत्वों का जैसे डंका बजता हो| यहां पर कभी किसी को भीड़ बनाकर पीट पीटकर ह’त्या कर दी जाती है तो कभी किसी यात्रा के बहाने किसी अराजकता को फ़ैलाने की कोशिश की जाती है। इन सब के बावजूद हमेशा योगी सरकार का कहना रहता है कि प्रदेश में कानून व्यवस्था सबसे अच्छी है। योगी सरकार की इसी अच्छी कानून व्यवस्था के चलते राजधानी लखनऊ से कुछ किलोमीटर दूर हरदोई के शिव-मंदिर पर हुआ हमला, जिसके बाद तो मानों योगी सरकार की चुस्त कानून व्यवस्था की सारी पोल ही खुल गयी|

न्यूज़ 18 की खबर के मुताबिक़, यह मामला हरदोई के सुभाष नगर मोहल्ले का है जहां एक शिव मंदिर में अज्ञात अराजक तत्वों ने हमला कर शिवलिंग को तोड़ दिया। मगर हैरान करने वाली बात तो यह है कि इस भीड़ का नेतृत्व कोई और नहीं बल्कि राष्ट्रवादी और सत्ताधारी दल के BJP नेता अरुण मौर्य कर रहें थे।

न्यूज़ 18 की खबर के मुताबिक़, भाजपा नेता अरुण मौर्य ने कुशवाहा समाज के लोगों के साथ एक मीटिंग की थी। जिसमें कुशवाहा समाज की भूमि पर मंदिर बनाए जाने को लेकर चर्चा की गयी थी| इसी मीटिंग के बाद शिवलिंग को तोड़ दिया गया जिसके बाद लोग गुस्सा में आ गए और भीड़ इकट्ठा हो गई।

बता दें कि पुलिस प्रशासन ने मामले की गंभीरता को देखते हुए इलाके भर में भारी पुलिसबल की तैनाती कर दी है और मंदिर के पुजारी के कहने पर बीजेपी नेता समेत 200 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

इस मामले पर एएसपी कुंवर ज्ञानजंय सिंह ने बताया कि कुश आश्रम की जमीन पर लोगों द्वारा मन्दिर बनाकर कब्जा किये जाने के विवाद की जानकारी हुई है। जिसके चलते तोड़फोड़ को लेकर कुछ लोगों को हिरासत में ले लिया गया है। मोहल्लें के लोगों की तहरीर पर मामला दर्ज कर दिया गया है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि बीजेपी नेता अरुण मौर्य योगी कैबिनेट के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के करीबी बताए जा रहें है। जिनपर पुलिस ने जमीन कब्जाने के लिए और मूर्ति तोड़ने के लिए FIR दर्ज की है, उनके साथ 200 लोगों पर भी FIR दर्ज हुई है इन सभी पर मामला दर्ज हुआ है।

साभारः #Jansatta