VIDEO: यूपी में इस मुस्लिम भाजपा नेता ने थामा कांग्रेस का हाथ, मुसलमानों में खुशी की लहर

लोकसभा चुनाव सिर पर है और ऐसे में सभी राजनीतिक पार्टियां तैयारियों में जुटी हुई है. वहीं बीजेपी भी सत्ता में वापसी के लिए पूरा जोर लगा रही है. लेकिन चुनाव से पहले बीजेपी की तैयारियों को करारा झटका लगा है. सत्तारूढ़ बीजेपी की स्थिति लगातार कमजोर होती जा रही है ऐसे में कई नेता बीजेपी का साथ छोड़कर जाने लगे है. इसी कड़ी में बीजेपी के एक बड़े मुस्लिम नेता ने भी भारतीय जनता पार्टी को छोड़ कांग्रेस का दामन थाम लिया है. आपको बता दें कि देश भर में बीजेपी के खिलाफ जनता में काफी विरोध देखने को मिल रहा है इसके आलावा पार्टी के नेता भी आला कमान पर अनदेखी के आरोप लगा रहे है.

इस बीच बीजेपी के आजमगढ़ में पार्टी के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष रहे सुफियान खान ने बीजेपी छोड़ दी है. कांग्रेस में शामिल होने के बाद उन्हें कांग्रेस ने जिला अध्यक्ष बनाया है. वहीं कांग्रेस ने शामिल होने बाद बीजेपी नेता रहे सुफियान ने बीजेपी पर जमकर हमला बोला.

Image Source: Google

सुफियान खान ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी हमेशा ही हिन्दू व मुसलमानों को लड़ाने का काम करती आई हैं, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. उन्होंने कहा कि हिन्दू व मुसलमान पहले भी एक थे और आगे भी एक ही रहेंगे. बीजेपी हिंदू और मुस्लिमों को लड़ा कर राज करने का सपना देखती हैं.

उन्होंने कहा कि वह लंबे समय तक बीजेपी में रहे है, इतने साल पार्टी की सेवा करने के बाद अब उनके सामने पूरी सच्चाई आ गई है. उन्होंने कहा कि बीजेपी के चाल और चरित्र में बहुत बड़ा अंतर है. उन्हें अब समझ आ गया है कि कांग्रेस ही देश का विकास कर सकती है.

Image Source: Google

उन्होंने पूरा विश्वास जताते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ते हुए अधिक से अधिक सीट हासिल करेंगी. साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ही देश के अलगे पीएम बनने जा रहे है और हम सब मिलकर कांग्रेस को अधिक से अधिक सीट दिलाएंगे.

इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी के अल्पसंख्यक मोर्चा का अध्यक्ष रहते हुए उन्होंने कई बार पार्टी से सुन्नी मुसलमानों को उचित प्रतिनिधित्व देने की मांग की. खान ने कहा कि शिया और सुन्नी दोनों ही बीजेपी को वोट देते है लेकिन इसके बाद भी बीजेपी शिया नेताओं को अधिक प्रतिनिधित्व देती है पार्टी सुन्नी मुस्लिमों को नजरअंदाज करती है.