VIDEO: भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह के फिर बिगड़े बोल, मुसलमा’नो को लेकर दिया शर्मनाक बयान

नई दिल्‍ली: अक्सर अपने विवादित बयानों को लेकर अक्सर सुर्खियों में बने रहने वाले उत्तर प्रदेश के बलिया से बेलगाम बीजेपी विधायक सुरेन्द्र सिंह ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। इस बार उन्‍होंने मुस्लिम समुदाय के लोगों पर निशाना साधा है। पिछले दिनों वह तब चर्चा में आ गए थे, जब उन्‍होंने डॉक्टरों को ‘शैतान’ और पत्रकारों को ‘दलाल’ कहा था। जिसके बाद हाल ही में जिला अस्पताल में निशुल्क सीटी स्कैन के उद्घाटन कार्यक्रम में पहुंचे थे. यहां उन्होंने साक्षी को लेकर विवादित बयान दे दिया था।

सुरेन्द्र सिंह ने कहा, मुस्लिम धर्म में 50 औरतों को रखने और 1050 बच्चों को पैदा करने की परंपरा है। यह कोई परंपरा नहीं है। यह एक ‘पशु प्रवृत्ति’ है। यह पहली बार नहीं है जब बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने विवादित बयान दिया है। इससे पहले भी वे कई बार विवादित बयान दे चुके हैं। पिछले साल जुलाई के महिने में बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने रेप की बढ़ती घटनाओं पर विवादित बयान दिया था।

Image Source: Google

विधायक सुरेंद्र सिंह ने देश में दु’ष्क’र्म की बढ़ती घटनाओं पर कहा था कि मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि भगवान राम भी आ जाएंगे तो इन घटनाओं पर काबू पाना संभव नहीं है।

बीजेपी विधायक ने दु’ष्क’र्म की घटनाओं पर काबू पाने का उपाय भी बताया था। उन्होंने कहा था, यह सभी का धर्म है कि समाज के सभी लोगों को अपना परिवार समझें सभी को अपनी बहन समझने के धर्म का पालन करना चाहिए। संस्‍कार के बल पर ही इन घट’नाओं पर काबू पाया जा सकता है।

पिछले साल जून के महीने में विधायक सुरेंद्र सिंह ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था, अधिकारियों से अच्छा चरित्र वे’श्या’ओं का होता है, वो पैसा लेकर कम से कम अपना काम तो करती हैं और स्टेज पर नाचती हैं, पर यह अधिकारी तो पैसा लेकर भी आपका काम करेंगे की नहीं, इसकी कोई गारंटी ही नहीं है।

हाल ही में विधायक महोदय ने साक्षी मिश्रा मामले में भी विवादित बयान हाल ही में दिया। उन्‍होंने कहा है कि साक्षी का निर्णय कामुकता वश लिया गया है। अजितेश कुछ दिनों के बाद साक्षी को छोड़ देगा। सुरेंद्र सिंह से जब पत्रकारों से साक्षी मिश्रा और अजितेश कुमार की शादी पर हो रहे विवाद पर उनका पक्ष पूछा, तब उन्‍होंने कहा कि काम वासना से वशीभूत होकर साक्षी ने निर्णय लिया है।