कैलाश विजयवर्ग़िय ने सारी सीमा लाँघते हुए प्रियंका गांधी के ख़िलाफ़ दिया बेहद घटिया बयान

यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी की बेटी और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी वाड्रा की राजनीति में सक्रिय एंट्री के साथ ही शुरू हुआ बवाल थमने का नाम ही नहीं ले रहा हैं. वहीं प्रियंका गांधी की सक्रीय राजनीति में आने के साथ ही कांग्रेस ने एक नया जोश देखने को मिल रहा है जबकि अभी तो उन्होंने अपना कार्यभार भी नहीं संभाला है. अपनी दादी इंदिरा गांधी के जैसे देखने वाली प्रियंका के राजनीति में आने के साथ ही सियासी गलियारों में हलचल तेज हो गई है.

प्रियंका की एंट्री के बाद शुरू हुई बहस लगातार बढ़ती जा रही है. लगातार प्रियंका को लेकर विवादित बयान भी सामने आ रहे हैं. वहीं राजनीतिक विशेषकों की मानें तो प्रियंका के सक्रिय होने से बीजेपी समेत कांग्रेस के सभी विरोधियों को काफी नुकसान हो सकता है.

वहीं उत्तर प्रदेश में जिस कांग्रेस को अब तक बीजेपी और सपा बसपा के गठबन्धन के सामने लगभग नाकारा जा रहा था प्रियंका की एंट्री से कही न कहीं कांग्रेस को नकारने की गलती अब कोई करता हुआ नजर नहीं आ रहा था. प्रियंका की एंट्री के ऐलान के साथ ही बीजेपी में भी हडकंप मचा हुआ हैं.

बीजेपी की तरफ से लगातार प्रियंका पर निशाना साधा जा रहा है. प्रियंका के राजनीति में आने आने के बाद से ही बीजेपी के तमाम बड़े नेताओं प्रतिक्रियाएं दे रहे है. प्रियंका पर बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी साथ ही एक नया विवाद भी खड़ा कर दिया.

दरअसल कैलाश विजयवर्गीय ने प्रियंका की तुलना बॉलीवुड एक्टर सलमान खान और एक्ट्रेस करीना कपूर खान से कर दी है. कैलाश ने कहा कि कांग्रेस चॉकलेटी चेहरों के दम पर अगला लोकसभा चुनाव लड़ना चाहती है.

पीटीआई के मुताबिक कैलाश ने कहा कि कांग्रेस नेता कभी मांग करते है कि करीना कपूर को भोपाल से लोकसभा चुनाव लड़वाया जाए तो कभी इंदौर से सलमान खान को उतरने की चर्चा की जाती है. इसी तरह ही कांग्रेस सक्रिय राजनीति में प्रियंका को लेकर आई है.

कांग्रेस के पास अगले लोकसभा चुनाव में उतारने के लिए कोई मजबूत नेता नहीं हैं इसीलिए वह ऐसे चॉकलेटी चेहरों के माध्यम से चुनाव लड़ना और जीतना चाहती है. उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस राहुल के नेतृत्व में आत्मविश्वास से भरी होती तो प्रियंका को राजनीति में लाने की जरूरत ही नहीं पड़ती.