VIDEO: Maharashtra में नए समीकरण, महाराष्‍ट्र के साथ अब मुंबई की सत्‍ता से भी बाहर हुई भाजपा

VIDEO: Maharashtra में नए समीकरण, महाराष्‍ट्र के साथ अब मुंबई की सत्‍ता से भी बाहर हुई भाजपा

महाराष्‍ट्र: मुंबई में बृहन मुंबई म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन (BMC) पर शिवसेना का कब्जा हो गया है। अब (बीएमसी) के मेयर चुनाव में शिवसेना के लिए निर्विरोध जीत का रास्ता तैयार कर दिया है। 22 नवंबर को होने वाले मेयर चुनाव के लिए शिवसेना प्रत्याशी किशोरी पेडणेकर व डिप्टी मेयर के लिए सुहास वाडकर ने सोमवार को अंतिम दिन नामांकन पत्र दाखिल किए। अंतिम समय तक दोनों पदों के लिए इन्हीं दो प्रत्याशियों द्वारा नामांकन दाखिल किए जाने के कारण इनका निर्विरोध चुना जाना तय माना जा रहा है।

दरअसल शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे भी अपने परिवार के साथ बीएमसी दफ्तर पहुंचे हैं। गौरतलब है कि शुक्रवार को बीएमसी मेयर पद के लिए नामांकन करने का आखिरी दिन था। चूंकि अंतिम तारीख तक सिर्फ शिवसेना की किशोरी पेडनेकर द्वारा ही नामांकन किया गया है, ऐसे में वह निर्विरोध मुंबई बीएमसी की मेयर चुनी गई। किशोरी पेडनेकर का नाम शिवसेना नेताओं की बैठक के बाद आगे किया गया था।

आपको बता दें 57 वर्षीय किशोरी पेडनेकर पेशे से नर्स रही हैं। वह 2002 में पहली बार देश के सबसे अमीर म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन में कोरपोरेटर चुनीं गई थी। किशोरी पेडनेकर बीएमसी की 77वीं मेयर होंगी। शिवेसना के ही कोरपोरेटर सुहास वाडकर नए डिप्टी मेयर होंगे। बीएमसी के मौजूदा मेयर शिवसेना नेता विश्वनाथ महादेश्वर का कार्यकाल 21 नवंबर को खत्म हो गया है।

मेयर और डिप्टी मेयर के चुनाव में कांग्रेस और एनसीपी की तरफ से कोई उम्मीदवार खड़ा नहीं किया गया था, जिसके बाद शिवसेना के मेयर और डिप्टी मेयर निर्विरोध चुन लिए गए। शिवसेना के वरिष्ठ कोरपोरेटर जैसे रमाकांत रहाटे, मंगेश सातामकर, राहुल पटेल, अनंत नार और श्र’द्धा जाधव भी पार्टी की तरफ से मेयर पद की दावेदारी में थे।

 

आपको बता दें किशोरी पेडनेकर साल 1992 में शिवसेना में शामिल हुई थीं और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में गिनी जाती हैं।किशोरी पेडनेकर बीएमसी में महिला एवं बाल कल्याण कमेटी की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं। वही वर्ली से चुनाव लड़ने वाले आदित्य ठाकरे के चुनाव प्रचार के दौरान भी किशोरी पेडनेकर काफी सक्रिय रहीं थी और उन्हें इसके लिए तारीफ भी मिली थी। किशोरी पेडनेकर का कहना है कि बतौर मेयर उनकी प्राथमिकता मुंबई को सड़कों के गड्ढों और प्लास्टिक से मुक्त करना है।

आपको बताते चले कि पिछले दिनों हुए महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। लेकिन शिवसेना के साथ सीएम पद को लेकर हुई खीं’चता’न के बाद भाजपा और शिवसेना का गठबंधन टूट गया और अब शिवसेना की कांग्रेस और एनसीपी के साथ सरकार बनाने को लेकर लगभग सहमति बन चुकी है।

Leave a comment