VIDEO: पश्चिम बंगाल बीजेपी की सहयोगी पार्टी भी नागरिकता कानून के खिला’फ, कई बसों और ट्रेनों को फू’का, हाइवे किये जाम

Citizenship Amendment Act 2019, कोलकाता: पश्चिम बंगाल में नागरिकता संशोधन ऐक्ट के खिला’फ हिं’सक विरो’ध तेज होता जा रहा है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की अपील के बावजूद भी राज्य में आ’गज’नी और हिं सा की घट’नाएं रुकने का नाम नहीं ले रही। इस हिं#सा प्रदर्शन की आं’च से राज्य के चार जिले बुरी तरह प्रभा’वित हैं। विरो’ध कर रहे लोगों के निशा’ने पर बसें, ट्रेन, पुलिस की गाड़ियां और रेलवे स्टेशन हैं। बंगाल से हिं’सक प्रदर्शनों की वजह से लंबी दूरी की 28 से भी ज्यादा ट्रेनों को र’द्द कर दिया है।

बता दें उत्तर-पूर्व में भाजपा की अहम सहयोगी और संशोधित नागरिकता कानून को समर्थन करने वाली एक पार्टी ने भी अब इसका विरो’ध करने का फैसला लिया है। असम गण परिषद (AGP) ने शनिवार को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं संग मीटिंग के बाद यह फैसला लिया।

पश्चिम बंगाल: नागरिकता कानून के विरो’ध में कई इलाकों में ट्रेन और बसें ज’लाईं, हाइवे किये जाम

असम गण परिषद (AGP) ने पार्टी ने फैसला लिया है कि विवादास्पद कानून के खिला’फ सुप्रीम कोर्ट का रुख करेगी। पार्टी नेताओं ने विवा’दित कानून के मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से भी मुलाकात करने का फैसला लिया है।

एजीपी भाजपा के नेतृत्व वाली असम सरकार में गठबंधन का हि’स्सा है, जिसके मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल हैं। मौजूदा सरकार में एजेपी के तीन मंत्री भी शामिल हैं।

वही बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कानून तोड़ने वालों को स’ख्त कार्रवाई की चेताव’नी दी है। सभी से शांति की अपील करते हुए सीएम ऑफिस से जारी बयान में कहा गया है, कि कोई भी कानून अपने हा’थ में न लें। रोड ब्लॉक करके या ट्रेन रोककर सड़कों पर निकले आम लोगों के लिए परेशानी न खड़ी करें।