VIDEO: हिजाब पहनकर जामा मस्जिद प्रदर्शनकारियों के बीच पहुंची कांग्रेस नेता अलका लाम्बा कहा- अगर कपड़ो से पहचान सकते हो तो….

नई दिल्लीः नागरिकता कानून के खिलाफ आज भी दिल्ली के जामा मस्जिद सहित देश भर के कई इलाके में प्रदर्शन हो रहा है। शुक्रवार की नमाज के बाद भीम आर्मी और कुछ संगठन जामा मस्जिद के पास नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। पूरी दिल्ली में जिन-जिन इलाकों में प्रदर्शन हो रहे हैं, वहां-वहां कुल मिलाकर 54 कंपनी अतिरिक्त सुरक्षाबलों तैनाती की गई है। साथ ही ड्रोन कैमरे से भी प्रदर्शन पर नजर रखी जा रही है।

नागरिकता कानून के खिलाफ शुक्रवार को जामा मस्जिद पर कई संगठन प्रदर्शन कर रहे हैं। इस दौरान कांग्रेस नेता अलका लांबा और दिल्ली के पूर्व विधायक शोएब इकबाल भी प्रर्दशनकारियों के साथ मौजूद थे। उन्होंने प्रर्दशन के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पर कई कटाक्ष किए. अपने भाषण में कहा कि जामिया का स्टूडेंट अमित शाह की कुर्सी भी छीन सकता है।

उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी की डिग्री पर सवाल उठाते हुए कहा कि जामिया के स्टूडेंट के अंदर इतनी ताकत है कि वह अमित शाह की कुर्सी को भी आने वाले 30 साल में छीन सकता है। आने वाले समय में आईपीएस और आईएएस भी बनेगा. लेकिन पीएम की तरह अनपढ़ नही रहेगा।

अगर पीएम नरेंद्र मोदी ये सोचते हैं कि रामलीला मैदान से उन्होंने भाषण दे दिया औऱ सोचा कि हिंदुस्तान के लोगों ने अमन और शांति कायम कर ली.अमन और शांति है. मैं आखिरी सांस तक बार-बार ये कहता रहूंगा।

 

कांग्रेस नेता अलका लांबा ने सरकार पर प्रहार करते हुए कहा, की देश में असल मुद्दा इस समय बेरोजगारी है, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी लोगों को CAA और NRC के लिए लाइन में खड़ा करना चाहते हैं, जैसा नोटबंदी के दौरान किया गया था. देश और संविधान के लिए लोकतंत्र की आवाज उठाना आवश्यक है।

गौरतलब है कि ये पहला मौका नहीं हैं जब जामा मस्जिद के बाहर सैकड़ों की तादाद में लोग एकत्रित हुए हों. इससे पहले भी कई दिनों लोगों ने एनआरसी और सीएए के विरोध में प्रर्दशन किया था। जिसमे कई प्रदर्शनकरियो को गिरफ्तार किया जा चूका है।