मॉब लिंचिं’ग पर पीएम मोदी को खुला पत्र लिखने वाले 50 लोगों को पड़ा भा’री, 49 नामी लोगो पर….

देश में बढ़ती मॉब लिंचिं’ग की घट’नाओ को देखते हुए आम इंसान खुद को सुरक्षित महसूस नहीं कर रहा है| आये दिन कहीं न कहीं से मॉब लिंचिं’ग की नहीं घट’ना सुनने में आती ही रहती है|इसी के चलते कई लोगों इसके खिला’फ आवाज उठाने की कोशिश करते हैं पर बड़े नेताओं द्वारा और हाई प्रोफाइल लोगों द्वारा उनका या तो महू बंद कर दिया जाता है या फिर उनके खिला’फ ही कार्यवाही करदी जाती है| इन सब के चलते ऐसी ही एक खबर सामने आयी है जिसके चलते उन लोगों ने पीएम मोदी को पत्र लिख डाला लेकिन यह उनको ही भारी पड़ गया और 50 से ज्यादा लोगों पर कार्यवाही शुरू हो गयी है|

आपको बता दें कि यह मामला है बिहार के मुजफ्फरपुर में पीएम मोदी को मॉब लिं’चिं’ग की बढ़ती घट’नाओं पर खुला पत्र लिखने वाले तीन लोगों का जिसकी वजह से अब उनपर एफआईआर दर्ज की गई है लेकिन आपको यह जानकार हैरानी होगी कि इस मामले में खुला पत्र लिखने वाले कोई और नहीं बल्कि रामचंद्र गुहा, मणि रत्नम और अपर्णा सेन हैं|

जानकारी के मुताबिक़ खुला पत्र लिखने वाले रामचंद्र गुहा, मणि रत्नम और अपर्णा सेन समेत करीब 50 लोगों के खिला’फ प्राथमिकी दर्ज की गई है| बता दें कि इन सभी लोगों ने सिर्फ इतना ही गुन्हा किया था कि इन सभी ने देश में बढ़ रहे मॉब लिंचिं’ग यानी भी’ड़ द्वारा पी’ट-पी’टकर ह$त्या के मामलों पर अपनी चिं’ता जाहिर की थी जिसके चलते इन लोगों ने पीएम को पत्र लिख देश की हाला’त से अवगत कराया।

आपको बता दें कि यह घटना गुरुवार 03 अक्टूबर की है। वहीँ दूसरी ओर खबर है कि स्थानीय वकील सुधीर कुमार ओझा की ओर से दो महीने पहले दायर की गई एक याचिका पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सीजेएम सूर्य कांत तिवारी के आदेश के बाद यह प्राथमिकी दर्ज हुई है।


इस मामले के चलते ओझा ने कहा कि सीजेएम ने 20 अगस्त को उनकी याचिका को स्वीकार कर ली थी। इसके बाद गुरुवार 03 अक्टूबर को सदर पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज हुई है। बता दें कि ओझा का आरोप है कि इन हस्तियों ने देश और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को कथित तौर पर धूमि’ल किया है।

वहीँ पुलिस ने बताया कि मामले में प्राथमि’की भारतीय दंड संहिता की संबंधित धारा’ओं के तहत मामला दर्ज की गई है। इसमें रा’जद्रो’ह उपद्र’व करने शांति भं’ग करने के इरादे से धार्मि’क भाव’नाओं को आह’त करने से संबंधित धारा’एं भी लगाई गईं हैं।

जानकारी के लिए बता दें कि पीएम को लिखे हुए पत्र में देश की बड़ी हस्तियों के नाम भी शामिल हैं। इनमें फिल्मकार श्याम बेनेगल, गायक शुभा मुदगल, इतिहासकार रामचंद्र गुहा, बंगाली सिनेमा के जानकार सौमित्रो चटर्जी, दक्षिणी फिल्म निर्माता अभिनेता रेवती, सामाजिक कार्यकर्ता बिनायक सेन और समाजशास्त्री आशीस नंदी भी शामिल हैं।

साभारः #Jansatta