CBI की खुली पोल- अफसर ने पीएम को चिट्ठी लिख कर बताया ज्वाइंट डायरेक्टर ने 14 लोगों को…

केन्द्रीय जांच एजेंसी यानी सीबीआई में एक बार फिर से अंदरुनी मतभेद उभरकर सामने आए हैं। दरअसल आपको बता दें कि एक सीबीआई अधिकारी ने पीएमओ को एक चिट्ठी लिखकर एजेंसी के ही एक वरिष्ठ अधिकारी पर फर्जी एन’काउंट’र करने और इन एनकाउंटर में 14 निर्दो’ष लोगों को मा’रने का गंभी’र आरोप लगाया है। एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक़, डिप्टी सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस एनपी मिश्रा ने सीबीआई के ज्वाइंट डायरेक्टर एडमिनिस्ट्रेशन ए.के. भटनागर पर उपरोक्त आरो’प लगाए हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक़ एनपी मिश्रा ने चिट्ठी में आरोप लगाया है कि ए.के. भटनागर ने झारखंड में 14 निर्दोष लोगों के फर्जी ए’नकाउंट’र किए। इसके साथ ही मिश्रा ने अपनी चिट्ठी में भटनाग’र को ऑफिस से हटाने की मांग भी की है। बता दें कि इन मामलों की अभी जांच चल रही है|

रिपोर्ट्स के मुताबिक़ एनपी मिश्रा ने बीती 25 सितंबर को यह चिट्ठी पीएमओ को भेजी है। पीएमओ के साथ ही सीबीआई चीफ और चीफ विजिलेंस ऑफिसर को भी यह चिट्ठी भेजी गई है। एनपी मिश्रा ने सीवीसी को 5 पेज का शिकायती पत्र भी भेजा है। वहीँ शिकायतकर्ता अधिकारी का दावा है कि जो लोग एन’काउंट’र में मारे गए हैं, उनके रिश्तेदारों ने पहले ही शिकायत की हुई है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि एनपी मिश्रा फिलहाल सीबीआई में प्र’त्यर्प’ण और भगोड़े अपराधि’यों की जांच करने वाली डिविजन का हिस्सा हैं, जो कि इंटरपो’ल के साथ मिलकर काम करती है।

बता दें कि मिश्रा ने भटनागर पर भ्रष्टा’चा’र में कथित तौर पर शामिल होने का भी आरोप लगाया है। एनपी मिश्रा इससे पहले भी कथित भ्र’ष्टाचा’री अधिकारियों के खिला’फ आवा’ज उठाते रहे हैं। फिलहाल मिश्रा के तबादले संबंधी एक मामले पर भी दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई हो रही है।

साथ ही आपको बता दें कि पिछले साल भी सीबीआई में जारी अंदरु’नी तकरार खुलकर सामने आ गई थी। जब एजेंसी के दो टॉप अधिकारियों ने एक दूसरे पर भ्रष्टाचार में शामिल होने के आरोप लगाए थे। इस मामले को लेकर केन्द्रीय जांच एजेंसी की खूब किरकिरी भी हुई थी।

साभारः #Jansatta

Leave a comment