पहलू खान मॉब लिंचिं’ग पर कोर्ट के फैसले को लेकर सीएम गहलोत ने दिया बड़ा बयान

अलवर: मुंख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि पहलू खान वाले मामले में राज्य सरकार एडीजे कोर्ट अलवर के आदेश के खिला’फ अपील दायर करेगी। बता दें कि राजस्थान के अलवर जिले के चर्चित मॉब लिंचिं’ग पहलू खान ह$त्याकांड मामले में बुधवार को एडीजे कोर्ट अपना फैसला सुनाया। अलवर जिला न्यायालय ने इस मामले में फैसला सुनाते हुए कोर्ट ने सभी सभी 6 आरोपियों को बरी कर दिया है। खास खबर पर छपी खबर के अनुसार, अलवर कोर्ट ने सभी 6 आरोपियों को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया है।

लेकिन कोर्ट को वीडियो में आरोपियों का चेहरा नहीं दिखा और पहलू खान के बेटों की गवाही को भी तवज्जो नहीं मिली है। इसके अलावा वीडियो बनाने वाला शख्स भी अपने बयान से मुकर गया। यह फैसला आने के बाद पहलू खान के परिवार की ओर से पेश वकील ने कहा कि वह इस फैसले के खिला’फ ऊपरी अदालत में अपील करेंगे।

69012576 405933136945801 6348366300946890752 n
Image Source: Google

इससे पहले पहलू खान मॉब लिंचिं’ग केस में सीबीसीआईडी ने नामजद 6 व्यक्तियों को सुधीर यादव हुकमचंद यादव ओम यादव नवीन शर्मा राहुल सैनी और जगमाल सिंह आरो’पी नहीं माना था। उनकी जगह वीडियो फुटेज और अन्य साक्ष्यों के आधार पर 9 लोगों को आरोपी बनाया था जिसमें दो नाबालि’ग भी शामिल हैं।

वही पुलिस ने विपिन रवींद्र कालूराम दयानंद योगेश कुमार दीपक गोलि’यां और भीमराठी ओर दो नाबालि’ग को आरोपी बनाया था। फिलहाल सभी आरोपी जमानत पर बाहर हैं। बता दें कि एक अप्रैल 2017 को हरियाणा के नूह मेवात जिले के जयसिंहपूरा गांव निवासी पहलू खान अपने दो बेटों उमर और ताहिर के साथ जयपुर के पशु हटवाड़ा से दुधारू पशु खरीदकर अपने घर जा रहा था।

इस बीच अलवर के बहरोड़ पुलिया के पास भी’ड़ ने गाड़ी को रुकवा कर पहलू और उनके बेटों से मारपी’ट की।सूचना पा कर मौके पर पहुंची पुलिस ने पहलू खान को बहरोड़ के एक अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान 4 अप्रैल 2017 को उनकी मौ’त हो गई।

गौरतलब है कि यह मामला राजस्थान से लेकर दिल्ली तक उठा था। इस मामले में वसुंधरा सरकार को देशभर में आलोचना झेलनी पड़ी थी। पिछले दिनों गेहलोत सरकरा ने विधानसभा में मॉब लिंचिं’ग कानून पारित कराया है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *