CAA और NRC को लेकर सीएम उद्धव ठाकरे का बड़ा बयान, कहा- इस कानून से मुसलमान ही नहीं, बल्कि देश के...

CAA और NRC को लेकर सीएम उद्धव ठाकरे का बड़ा बयान, कहा- इस कानून से मुसलमान ही नहीं, बल्कि देश के…

मुंबई: देश में संशोधित नागरिकता कानून CAA और NRC को लेकर हो रहे विरोध पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का बयान सामने आया है, जिसमें उनका कहना है कि, वह नागरिकता संशोधित कानून के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन NRC और NPR का विरोध करेंगे। लेकिन उद्धव ठाकरे की शिवसेना की महाराष्ट्र में सहयोगी पार्टी कांग्रेस और एनसीपी एनपीआर और एनआरसी सहित नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ भी हैं।

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पार्टी के मुखपत्र सामना को इंटरव्यू देते हुए कहा, नागरिकता संशोधन कानून के तहत किसी को भी देश से बाहर नहीं निकाला जा सकता. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हालांकि वह महाराष्ट्र में एनआरसी लागू नहीं होने देंगे, क्योंकि इससे हिंदुओं को भी अपनी नागरिकता साबित करने में दिक्कत होगी।

महाराष्ट्र में एनआरसी को नहीं आने दूंगा: सीएम ठाकरे

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा, एनआरसी के तहत ना केवल मुस्लि’म बल्कि हिंदुओं को भी अपनी नागरिकता साबित करने में दिक्कत होगी. इसलिए मैं एनआरसी को यहां नहीं आने दूंगा.’ एएनआई के मुताबिक ठाकरे का इंटरव्यू पार्टी नेता और सामना के संपादक संजय राउत ने लिया है।

आपको बता दें नागरिकता कानून को लेकर देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. देश की राजधानी दिल्ली में भी कई जगहों पर लोग कई दिनों से प्रदर्शन पर बैठे हैं. वहीं जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के बाहर रविवार रात दो बदमाशों के कथित गो’लीबा’री करने की घ’टना में पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए बनाए गए विश्वविद्यालय के छात्रों और पूर्व छात्रों के समूह ‘जामिया समन्वय समिति जेसीसी के एक बयान के अनुसार हमलावर लाल रंग की मोटरसाइकिल पर आए थे. बयान में कहा गया है कि एक बदमाश ने लाल रंग की जैकेट पहन रखी थी।

Leave a comment