मुस्लि’म धर्मगुरुओं के साथ सीएम योगी ने की बैठक, मस्जिद के लिए मांगी ऐसी जगह जहां बन सके इस्लामिक…

लखनऊ: अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद सोमवार शाम को शिया और सुन्नी मुस्लि’म धर्मगुरुओं ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके आवास पर मुलाकात की. करीब एक घंटे चली इस मुलाक़ात के दौरान मुस्लि’म धर्मगुरुओं ने मुख्यमंत्री योगी से अयोध्या में मस्जिद के लिए ऐसी जमीन मांगी है, जहां इस्लामिक यूनिवर्सिटी का भी निर्माण हो सके. वही मुस्लि’म धर्मगुरुओं ने इस फैसले को शांतपूर्ण ढंग से लागू कराने के लिए मुख्यमंत्री को बधाई दी है।

बता दें मुस्लि’म धर्मगुरुओं ने सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया न्यूज़ 18 की खबर के अनुसार, उन्होंने इस महत्वपूर्ण फैसले को शांतिपूर्ण तरीके से यूपी में लागू होने पर मुख्यमंत्री को बधाई दी। योगी ने भी सभी धर्मगुरुओं को शांति की अपील करने, आपसी सौहार्द बनाने और समाज को जोड़ने का कार्य करने के लिए बधाई दी।

आपको बता दें अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रज़ा के नेतृत्व में वरिष्ठ शिया एवं सुन्नी धर्मगुरुओं का प्रतिनिधिमंडल ने सीएम योगी से मुलाकात की. इसमें प्रमुख धर्मगुरु मौलाना हमीदुल हसन, मौलाना सलमान हुसैन नदवी, मौलाना फरीदुल हसन, मौलाना यूसुफ हुसैनी के साथ 15 धर्मगुरुओं ने एक घंटे से ज्‍यादा समय तक सीएम से बातचीत की.

इस दौरान मुस्लिम धर्मगुरुओं ने प्रदेश के अल्पसंख्यकों के हितों की योजनाओं के बारे में बताया। सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश सरकार अल्पसंख्यकों के हितों की कई योजनाएं चला रही है। इन योजनाओं को उपयोग ज्यादा से ज्यादा अल्पसंख्यक समुदाय को करना चाहिए।

इसके लिए समुदाय को जागरूक करने की अपील की। उन्होंने कहा कि सरकार अल्पसंख्यकों के विकास एवं उत्थान के लिए हर संभव मदद करेगी। सीएम ने कहा कि यदि अल्पसंख्यक समुदाय को अनायास परेशान किया जाता है तो इसकी सूचना उन्हें दी जाए।

Leave a comment