प्रियंका गांधी को अपने क्षेत्र से चुनाव लड़वानी चाहती हैं जनता, लगाए कई जगह पोस्टर

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी के सक्रिय राजनीति में आने के बाद से ही कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं में एक नया जोश देखने को मिल रहा है. प्रियंका को कांग्रेस महासचिव बनाया गया है साथ ही उन्हें पूर्वी उत्तर प्रदेश में पार्टी को जीत दिलाने की जिम्मेदारी दी गई है. साथ ही मना जा रहा है कि प्रियंका गांधी को उनकी माँ सोनिया गांधी की चुनावी सीट रायबरेली से आगामी लोकसभा के मैदान में उतारा जा सकता है. लेकिन इसी बीच कांग्रेस नेता और कार्यकर्ताओं द्वारा उन्हें गोरखपुर से चुनाव लड़ने की मांग की जाने लगी है.

कांग्रेस नेताओं की मांग है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में बतौर उम्मीदवार प्रियंका गांधी को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शहर गोरखपुर से उतारा जाए. इसके लिए कांग्रेसियों ने शहर भर में पोस्टर भी लगाए गए है और लोगों से इस मांग में साथ देने की अपील की जा रही है.

Image Source: Google

गोरखपुर जिला कांग्रेस कमेटी ने इस लोकसभा सीट से प्रियंका गांधी को उम्मीदवार बनाए जाने की मांग के पोस्टर जारी किये है. जिला कांग्रेस कमेटी के महासचिव अनवर हुसैन के नेतृत्व में आज दर्जनों कांग्रेसियों ने हाथों में पोस्टर लेकर कांग्रेस महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश के प्रभारी प्रियंका गांधी को गोरखपुर सीट से प्रत्याशी बनाए जाने की मांग की.

उन्होंने राहुल गांधी से यह मांग करते हुए कहा कि गोरखपुर की यही पुकार प्रियंका गांधी सांसद हो इस बार, राहुल भैया कार्यकर्ताओं की सुन लो पुकार, उपचुनाव में बीजेपी की हार के बाद चेहरा क्यों गायब है इस बार जैसे तमाम नारों के साथ कार्यकर्ताओं ने अपनी मांग रखी.

इसे लेकर जिला कांग्रेस कमेटी के महासचिव अनवर हुसैन ने कहा कि हमारे द्वारा पोस्टर जारी किया गया है जिसमें प्रियंका को मणिकर्णिका के रूप में दिखाया गया है और साथ ही मांग की जा रही है कि गोरखपुर से बहन प्रियंका गांधी को सांसद का चुनाव लड़ाया जाए.

उन्होंने कहा कि बीजेपी दम भर्ती थी कि गोरखपुर उनका घर है लेकिन मैं यह बता दूँ कि गोरखपुर कांग्रेस पार्टी का गढ़ रहा है कुछ परिस्थितियों के चलते बीजेपी पार्टी के सांसद यहां लगातार पांच बार से रहे थे.

उन्होंने आगे बताया कि लेकिन यह सीट इंदिरा जी के समय और राजीव गांधी जी के समय कांग्रेस का गढ़ रही है. बहन प्रियंका गांधी जी को पूर्वी यूपी का प्रभारी बनाने से कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में उर्जा का संचार हुआ है. अगर वह यहां से चुनाव लड़ती है तो इस सीट को कांग्रेस जीत लेगी.