कोरोना के नाम पर जमाती की ह’त्या, तीन गिरफ्तार, लोग बोले मीडिया है इसकी ज़िम्मेदार

आज दुनिया भर के 200 से भी ज्यादा देश कोरोना वायरस की महा’मा’री झेल रहा हैं. 13 लाख से भी ज्यादा लोग इस म’हामा’री से शिकार हो चुके हैं. दुनिया भर के आंकड़े बताते हैं कि 75 हजार से भी ज्यादा लोग इसकी वजह से मौ’त के मुं’ह में स’मा चुके हैं. अब वक्त है जब सभी मतभेदों को भुलाकर सभी लोगो को एकजुट होकर मुस्तैदी से इस बीमारी से ल’ड़ें लेकिन कुछ लोग ऐसे हैं जो इसके बहाने सा’म्प्रदा’यिक’ता को बढ़ावा देने में लगे हुए हैं। जिसके नतीजे आने भी लगे है।

कोरोना जैसी महा’मा’री आज है, कल खत्म हो जाएगी लेकिन देश की सबसे बड़ी महा’मा’री मीडिया बनती जा रही है. वैसे तो अधिकांश न्यूज चैनल अफवा’ह फैलाने की मशीन बन चुके हैं लेकिन इसका असर क्या होगा वाकई बहुत ख’तर’ना’क जिसके ताजा मामला सामने आया है. जहाँ एक युवक को कोरोना वायरस फैलाने की सा’जिश रचने के श’क में पी’ट पी’ट कर ह#त्या कर दी।

यह ताजा मामला दिल्ली के बवाना से सामने आया है जहाँ कोरोना वायरस फैलाने की साजिश रचने के शक में हिं’सक भी’ड़ ने 22 वर्षीय युवक के साथ कथित तौर पर बे’रह’मी से मा’रपी’ट की जिससे उसकी मौ’त हो गई। पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी।

पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि युवक की पहचान बवाना के हरेवली गांव निवासी महबूब अली के रूप में हुई है. पुलिस ने बताया कि अली तबलीगी जमात के एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए मध्य प्रदेश के भोपाल गया था और 45 दिनों के बाद सब्जियों के एक ट्रक में बैठकर दिल्ली वापस लोटा।

वही ट्रक ने उससे गावं के आजादपुर सब्जी मंडी छोड़ा जहाँ से उसे चिकित्सीय परीक्षण के लिए ले जाया गया जिसके बाद उससे छोड़ दिया गया था। पुलिस ने कहा कि जब वह अपने गांव पहुंचा तो अफवा’ह फैल गई कि महबूब अली की कोरोना वायरस फैलाने की योजना है।

नब्भारत टाइम्स की खबर के अनुसार एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि रविवार को उसे खेतों में ले जा कर पी’टा गया। बाद में उसे अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौ’त हो गई। वही इस मामले पर पुलिस ने मामला दर्ज कर तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।