लाइलाज कोरोना वायरस से बचने के लिए, हिंदू महासभा प्रमुख ने निकाला उपाय, चीन हैरान

चीन में नए साल में एक नई मुसीबत का सामना कर रहा है. इस मुसीबत का नाम है कोरोना वायरस, अब कोरोना वायरस चीन की सीमाओं से निकलकर दुनिया के अन्य देशो में भी अपना असर दिखा रहा है। भारत में भी कोरोनो वायरस मामले की एक पुष्टि की गई और पूरी दुनिया में कोरोनोवायरस डर फैला हुआ है। चीन के आसमान से उड़कर दुनिया के बाकी देशों में जाने वाले जहाज़ों से उतरने वाले यात्रियों की वैज्ञानिक तरीकों से जांच की जा रही है।

ये वायरस बहुत तेज़ी से अपने पैर पसारता है इसके संक्रमण की वजह से न्यूमोनिया होने का भ्रम होता है। लेकिन जल्द ही उन्हें समझ आ गया कि ये कोई मामूली संक्रमण नहीं है और इससे निपटने के लिए ऐड़ी-चोटी का ज़ोर लगाना होगा। इस वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए चीन में अधिकारियों ने कई कदम उठाए हैं। लेकिन ये वायरस रुकने का नाम नहीं ले रहा।

कोरोना वायरस जिसकी फ़िलहाल कोई दवा नहीं

लेकिन हिंदू महासभा के अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणी महाराज ने इस खतरनाक वायरस संक्रमण को जड़ से खत्म करने का दावा किया है। विश्व भर में कोरोना वायरस फैल रहा है और चीन में इससे 250 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अभी फिलहाल इसका इलाज पता नहीं चल सका है लेकिन हिंदू महासभा ने का दावा है कि इसे जड़ से खत्म किया जा सकता है।

हिंदू महासभा के अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणी महाराज ने ये अजीबोगरीब बयान देते हुए कहा कि कोरोना वायरस का इलाज गौमूत्र और गाय के गोबर में है। उन्होंने कहा कि इसके लिए एक विशेष यज्ञ का आयोजन किया जाएगा जिससे दुनिया भर से कोरोना वायरस का विनाश हो जाए।

साथ ही चक्रपाणी महाराज ने यह भी दावा किया है कि अगर कोई गाय के गोबर का लेप शरीर पर लगाए और ओम नमः शिवाय’ के मंत्र का जाप करे तो वह बच सकता है।

आपको बता दे विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चीन में शुक्रवार को 213 के मरने और देश में 31 प्रांतीय-स्तरीय क्षेत्रों में 9,692 पुष्ट मामलों के बाद नए कोरोनोवायरस को लेकर वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किया है।