CoronaVirus: यूपी में सब बंद, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बड़ा एलान, 35 लाख लोगो को तुरंत एक…

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए कई ऐलान किए हैं. उन्होंने बताया कि राज्य में 23 लोग कोरोना से पीड़ित हैं. सीएम ने ऐलान किया कि राज्य में 15 लाख दिहाड़ी मजदूरों और 20.37 लाख निर्माण श्रमिकों को उनकी दैनिक जरूरतों को पूरा करने में मदद करने के लिए 1000 रुपये प्रत्येक को दिया जाएगा।

आपको बता दें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया कि अब तक 23 लोग वायरस से संक्रमित पाए जा चुके हैं, जिसमें नौ लोग ठीक हो चुके हैं।उन्होंने ऐलान किया कि राज्य के मजदूरों को भत्ते के रूप में एक हजार रुपये दिए जाएंगे। साथ ही रेहड़ी वालों को 1000 रुपये की राशि दी जाएगी. ये मदद राशि मजदूरों के खाते में ट्रांसफर की जाएगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, हमने प्रदेश में आइसोलेशन वार्ड बनाए हैं। इस वायरस से घबराने की नहीं, चुनौतियों से लड़ने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि मजदूरों, ठेला लगाने वालों आदि को तत्काल राशन उपलब्ध कराने का फैसला लिया है।

सीएम योगी ने कहा कि पूरे देश में कोरोना वायरस सेकंड स्टेज पर है और अगर हम इसे यहीं रोकने में कामयाब होते है तो ये पूरी दुनिया के लिए एक मैसेज होगा. इसके संक्रमण को रोकने के लिए हमारी तैयारी युद्धस्तर पर चल रही है. सभी जिलों के अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड बनाए गए है और पर्याप्त चिकित्साकर्मी तैनात किए गए हैं।

इस दौरान उन्होंने कहा कि कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं है, लड़ने की जरूरत है, बचाव ही सबसे बेहतर उपाय है. यूपी सरकार ने दिहाड़ी मजदूरों के भरण पोषण के लिए वित्त मंत्री सुरेश खन्ना की अध्यक्षता में गठित समिति की सिफारिशें मान ली है।

उन्होंने बताया कि श्रम विभाग में 20 लाख 37 हजार पंजीकृत श्रमिकों, दैनिक सफाईकर्मी, ठेले वाले 15 लाख लोगों को भी भरण-पोषण के तौर पर एक हजार रुपये इनके बैंक खाते में ट्रांसफर किए जाएंगे।

वही मुख्यमंत्री ने लोगो से अपील की है कि घबराएं नहीं, व्यापारी जमाख़ोरी ना करें, हमारे पास पर्याप्त खाद्यान है. भीड़ भाड ना करें, संक्रमण ना होने दें, दुकानों में लाइन ना लगाएं, जो ज़रूरी हो वही लेने जाएं, किसी भी चीज़ की क़िल्लत नहीं होने देंगे।