AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी के भाई पर ’15 मिनट’ वाले बयान पर केस दर्ज करने के आदेश

एम आई एम पार्टी के चीफ असदुद्दीन ओवैसी के छोटे भाई अकबरुद्दीन ओवैसी पर ’15 मिनट’ वाले बयान को लेकर गाज गिर सकती है. क्योंकि हैदराबाद के सईदाबाद पुलिस स्टेशन में इस बयान को लेकर उनके खिलाफ एफ आई आर दर्ज की गई है. न्यूज़ एजेंसी एनआईए के हवाले से खबर है, अकबरुद्दीन ओवैसी ने इसी साल जुलाई में करीमनगर में एक सभा आयोजित की थी.

उन्होंने उस आम सभा को संबोधित करने के दौरान अपना पूर्व विवादित बयान ’15 मिनट’ वाला एक बार फिर से दोहरा दिया था. अब उनके इस बयान पर कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए पुलिस को 31 दिसंबर तक कार्यवाही करने के आदेश दिए हैं. इस मामले में वकील और याचिकाकर्ता करुणसागर ने इसके बारे में बताया है.

Akbaruddin Owaisi

करुणसागर ने कहा कि हैदराबाद के अडिशनल चीफ मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट ने मेरी शिकायत के बाद सईदाबाद पुलिस स्टेशन में अकबरुद्दीन ओवैसी के विरुद्ध भारतीय संविधान आईपीसी की धारा 153a, 153b और 506 के तहत केस दर्ज करने को कहा है.

याचिकाकर्ता ने बताया कि अकबरुद्दीन ओवैसी ने जब, करीमनगर में आम सभा को संबोधित किया था. तब उन्होंने अपना पूर्व में विवादित रहा बयान एक बार फिर दोहराया, और अब उसी के चलते कोर्ट ने उन पर केस दर्ज करने के आदेश दे दिए हैं.

आपको बता दें कि जुलाई महीने में अकबरुद्दीन ओवैसी ने एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि ‘लोग उन लोगों को डराते हैं जो आसानी से डर जाते हैं’ और लोग उन लोगों से डरते हैं जो इन्हें डराना जानते हैं’ वह मुझसे नफरत क्यों करते हैं? सौ सुनार की एक लोहार की ’15 मिनट ऐसा दर्द है जो अभी तक नहीं भर सका है’