COVID-19: 21 दिनों के लॉकडाउन पर ज्ञान बाटने वाले कोहली की संपत्ति 688 करोड़, लेकिन मदद में विदेशी खिलाड़ियों से पीछे

नई दिल्ली, बॉलीवुड एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा और क्रिकेटर विराट कोहली कोरोनो वायरस के बारे में देशवासियों को जागरूकता और महत्वपूर्ण जानकारी देने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को स्थिर कर दिया है और अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अगले 21 दिनों के लिए देश में टोटल लॉकडाउन की घोषणा की है।

आपको बता दें इस महामारी से पूरा विश्व में अब तक 24 हजार से ज्यादा लोगों की जान चुकी है। और दुनिया की एक तिहाई आबादी लॉकडाउन है। ऐसे में कई स्टार और खिलाड़ि मदद के लिए आगे आ रहे है। स्विट्जरलैंड के टेनिस खिलाड़ी रोजर फेडरर, सर्बिया के नोवाक जोकोविच, पुर्तगाल के फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो और अर्जेंटीना के लियोनल मेसी ने 8-8 करोड़ रुपए दान किए हैं।

वही दूसरी ओर, भारत के पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने 50 लाख रुपए दान किए बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने 50 लाख रुपए के चावल बांटने का ऐलान किया। एक तरफ विदेशी खिलाड़ी लोगों की मदद के लिए लगातार आगे आ रहे हैं तो वही दूसरी तरफ भारतीय क्रिकेटर्स ज्ञान बांटने, टिकटॉक बनाने और इंस्टाग्राम लाइव करने में व्यस्त हैं।

इन्ही में 1090 करोड़ रुपए की नेटवर्थ वाले सचिन तेदुलकर है जिन्होंने 50 लाख रुपए दान करने की घोषणा की है, लेकिन मौजूदा कप्तान विराट कोहली 688 करोड़ की संपत्ति होने के बावजूद सोशल मीडिया पर लोगो को सिर्फ ज्ञान ही बांट रहे हैं। इस लिस्ट में सिर्फ कोहली ही नहीं हैं। करोड़ों की कमाई करने वाले टीम इंडिया के स्टार खिलाड़ी भी पीछे हैं।

इनमे भारतीय टीम के ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा ने अभी तक कोई मदद का ऐलान नहीं किया है। वे हाल ही में केविन पीटरसन के साथ इंस्टाग्राम लाइव में दिखाई दे चुके हैं। युजवेंद्र चहल टिकटॉक तो शिखर धवन इंस्टाग्राम पर लगातार वीडियो डाल रहे हैं। लेकिन मदद के लिए आगे नहीं आए हैं।

वही हार्दिक पंड्या ने भाई क्रुणाल पंड्या के जन्मदिन पर करोड़ों की घड़ी पहनी थी। वे भी मदद के मामले में पीछे ही हैं। दूसरी ओर, पाकिस्तानी क्रिकेटर 50 लाख और बांग्लादेश के खिलाड़ी 28 लाख दे चुके हैं। अंपायर अलीम डार ने तो लाहौर में अपने रेस्तरां बेरोजगारों ओए मजदूरो को मुफ्त में खाने के लिए खोल दिया।

इतना ही नहीं दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई की ओर से अभी तक आर्थिक मदद की घोषणा नहीं हुई है। बीसीसीआई की नेटवर्थ 2 हजार 200 करोड़ रुपए से ज्यादा है। 150 करोड़ रुपए नेटवर्थ वाला श्रीलंका बोर्ड एक करोड़ रुपए दान कर चुका है। लोगों की मदद के मामले में सौराष्ट्र क्रिकेट संघ (एससीए) पीछे नहीं रहा है।

उसने प्रधानमंत्री राहत कोष और मुख्यमंत्री राहत कोष में 21-21 लाख रुपए देने का फैसला किया है वहीं, पाकिस्तानी अंपायर अलीम डार ने अपना लाहौर स्थित रेस्तरां जरूरतमंद लोगों के लिए खोल दिया है। यहां बेरोजगार लोग मुफ्त खाना खा सकते हैं।