कोरोना के खौफ से घरों में बंद थे लोग, लेकिन इसी बीच आया इतना तेज भूकम्प की मच गई तबाही

कोरोना के खौफ से घरों में बंद थे लोग, लेकिन इसी बीच आया इतना तेज भूकम्प की मच गई तबाही

रोम: कुछ दिन पहले तक शायद ही किसी ने सोचा होगा कि कोरोना का नया केंद्र यूरोप बन जाएगा। कोरोना का पहला मामला यहां जनवरी के आखिर में सामने आया था यानी ठीक एक महीने बाद जब चीन में इसने दस्तक दी थी। कोरोना के पहले केस की पुष्टि यूरोपीय देश फ्रांस में हुई थी। उस वक्त चीन में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या करीबन 800 के आस पास थी और 26 लोगों की मौत हो गई थी।

लेकिन दो महीने बाद भी यूरोप में कोरोना का कहर साफ देखा जा सकता है। लोगों से कोरोना के कारण अपने घरों में बंद है। इस बीच यूरोप के क्रोएशिया की राजधानी में घरों में बंद लोगों पर भूकंप ने कहर बरपा दिया। 140 सालों के इतिहास में इस देश ने सबसे तगड़ा भूकंप आया है। इन झटकों से देश की राजधानी जागरेब में सबसे ज्यादा तबाही मचाई है।

आपको बता दें कोरोना के कारण लोग घरों में बंद थे। तभी झटके महसूस किये गए और लोग घरों से बाहर भागे। अभी तक की खबरों के अनुसार एक मौत हो गई है। जबकि कई लोग घायल हुए हैं। बता दें कि इस देश में अभी तक कोरोना के दो सौ से ज्यादा मामले सामने आए हैं जिसने से कई लोगो की मौत हो चुकी है।

देश की राजधानी में भूकंप से एक की मौत की खबर है। वहीं कई घायल हुए हैं।

यहां 5.3 मैग्नीट्यूड भूकंप के झटके महसूस किये गए। इसमें कई इमारतें बुरी तरह प्रभावित हुए।

सड़कों पर इमारतों के हिस्से गिरे दिखाई दे रहे हैं।

बता दें कि यूरोप के इस देश में भी कोरोना का प्रकोप है। इसे लेकर लोग घरों में ही बंद हैं।

कुछ ऐसे तबाही मचा गया भूकंप। सड़कों पर पार्क गाड़ियों को सबसे ज्यादा नुक्सान पहुंचा।

बीएमडब्लू पर ईमारत का एक हिस्सा गिर गया।

भूकंप के बाद की तबाही का जायजा लेता शख्स।

आठ लाख की आबादी वाले इस देश में पहली बार इतने तेज झटके महसूस किये गए।

इससे पहले 1880 में यहां भूकंप के ऐसे झटके महसूस किये गए थे।

भूकंप के बाद कई जगहों पर अगलगी की खबरें हैं। भूकंप के कारण सड़कों पर खड़ी गाड़ियों को काफी नुकसान उठाना पड़ा। बाइक की हालत भी भूकंप ने बिगाड़ दी।भूकंप के कारण चर्च के ऊपरी हिस्से को नुकसान पहुंचा।

सड़कों पर गिरे इमारत से टूटे हिस्से। लोगों ने सोशल मीडिया पर देश में आए भूकंप के बाद की तस्वीरें शेयर की।

Leave a comment