मुस्लि’म डिलीवरी ब्वॉय देखकर ग्राहक ने ऑर्डर किया कैंसिल, Zomato ने दिया ये शानदार जवाब

ऑनलाइन फूड डिलीवरी करने वाली मशहूर कंपनी जोमैटो Zomato ने धार्मि’क भेदभाव के आधार पर नफर’त फैलाने वाले एक शख्स को करारा जवाब दिया है, जिसकी सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ हो रही है। दरअसल मंगलवार रात को अमित शुक्ला नाम के जोमैटो के ग्राहक ने ट्वीट करके जानकारी दी कि उसने अपने खाने का ऑर्डर इसलिए कैंसिल कर दिया, क्योंकि उसका डिलीवरी ब्वॉय हिंदू’ नहीं बल्कि मुस्लि’म था। इसी ट्वीट पर जोमैटो द्वारा ग्राहक को दिया ऐसा जवाब की चारो तरफ़ हो ताहि तारीफ।

कंपनी की इस पहल की सोशल मीडिया पर जमकर तारीफें हो रही हैं। जिसमे जोमैटो की तारीफ करने वालों में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला और पूर्व मुख्य निर्वाचन आयुक्त एसवाई कुरैशी जैसे दिग्गज भी शामिल हैं।

Image Source: Google

दरअसल जोमैटो कंपनी ने अपने नेटवर्क पर पार्सल पैकेट पहुंचाने वाले एक लड़के के धर्म को लेकर ग्राहक की शिकायत को सुनने से इनकार कर दिया। मामला मध्य प्रदेश के जबलपुर का है। यहां रहने वाले अमित शुक्ला नाम के एक ग्राहक ने जोमैटो से खाना मंगाया। जब शुक्ला ने देखा कि खाना पहुंचाने आया शख्स मुस्लि’म है, तो उसने जोमैटो से अलग डिलिवरी ब्वॉय भेजने को कहा।

शुक्ला ने मंगलवार की रात ट्वीट किया, अभी-अभी मैंने जोमैटो से एक ऑर्डर कैंसिल किया। उन्होंने मेरा खाना गैर-हिन्दू व्यक्ति यानि मुसलमा’न के हाथों भेजा और कहा कि वे इसे न तो बदल सकते हैं और न ही ऑर्डर र’द्द कर के पैसा वापस कर सकते हैं। मैंने कहा कि आप मुझे खाना लेने के लिये बाध्य नहीं कर सकते हैं। मुझे पैसा वापस नहीं चाहिये, बस ऑर्डर र’द्द करो। उसने जोमैटो के कस्टमर केयर से की गई बातचीत का स्क्रीनशॉट भी लगाया और कहा कि वह अपने वकील से इस बारे में चर्चा करेगा।

वही जोमैटो ने इस धर्म के आधार पर नफरत फैलाने वाले ट्वीट के जवाब में लिखा, खाने का कोई धर्म नहीं होता है। खाना खुद ही एक धर्म है। कंपनी इस रुख पर टिकी रही और डिलिवरी ब्वॉय बदलने से मना कर दिया। जोमैटो के संस्थापक दीपेंद्र गोयल ने भी ट्वीट किया, हमें भारत के विचार, अपने शानदार उपभोक्ताओं और उनके भागीदारों की विविधता पर गौरव है। अपने मूल्यों के कारण यदि हमारे कारोबार को कुछ नुकसान भी होता है तो हमें उसका अफसोस नहीं।