शर्मनाक: डिलीवरी ब्वॉय के मुस्लि'म होने की वजह से ग्राहक ने खाना लेने से किया इंकार

शर्मनाक: डिलीवरी ब्वॉय के मुस्लि’म होने की वजह से ग्राहक ने खाना लेने से किया इंकार

हैदराबाद के रहने वाले अजय कुमार ने एक ऐप पर खाना ऑर्डर किया अजय ने ये खाना फ़ूड डिलीवरी ऐप स्विगी (Swiggy) से ऑर्डर किया अजय ने ऑडर में चिकन 65 फ़लकनुमा के ग्रैंड बावर्ची रेस्तरां से ऑनलाइन पेमेंट कर ऑडर किया था लेकिन जब खाना डिलीवरी करने आया डिलीवरी ब्वाय के मुस्लि’म होने के कारण अजय ने खाना लेने से कथित तौर पर इंकार कर दिया जिसके बाद ऑर्डर करने वाले अजय कुमार को भारी पड़ गया।

दरअसल खाना ऑर्डर करने के थोड़ी देर बाद स्विगी डिलीवरी बॉय का पता पूछने के लिए एक फ़ोन आया अजय उसका नाम सुनते ही भड़क गया बंदे का नाम था मुद्दसिर जो की मुसलमा’न था अजय मुस्लि’म डिलीवरी बॉय से कहा कि वो ऑर्डर कैंसिल कर रहे हैं क्योकि डिलीवरी बॉय मुसलमा’न है और वो मुसलमा’न से खाना नहीं ले सकता।

पुलिस इंस्पेक्टर पी. श्रीनिवास ने कहा कि फ़ूड डिलीवरी ऐप स्विगी (Swiggy) के कर्मचारी मुद्दसिर सुलेमान ने एक शिकायत की। जिसमे उसने कहा कि अजय कुमार नाम के एक ग्राहक ने आर्डर करने के बाद खाना लेने से इसलिए इंकार कर दिया क्योंकि डिलीवरी ब्वॉय मुस्लि’म था। पुलिस अधिकारी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, और उपभोक्ता के खिला’फ मामला दर्ज कर लिया।

इस बीच डिलीवरी ब्वॉय ने मामला एक मुस्लि’म संगठन मजलिस बचाओ तहरीक के अध्यक्ष अमजद उल्ला खान के सामने उठाया, जिन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर मामले को पोस्ट किया। उन्होंने बताया, उपभोक्ता ने चिकेन-65 का ऑर्डर दिया था और हिंदू डिलीवरी ब्वॉय भेजने का अनुरोध किया था लेकिन स्विगी ने डिलीवरी पार्सल मुस्लि’म लड़के के हाथ भेज दिया जिसके बाद उपभोक्ता ने पार्सल लेने से इनकार कर दिया।

वही संपर्क किए जाने पर स्विगी ने एक बयान में कहा की हम लोग विविधता को स्वीकार करते हैं और हर तरह के विचार का आदर करते हैं। जगह और उपलब्धता के आधार पर हर ऑर्डर स्वत डिलीवरी एक्जेक्यूटिव को मिल जाता है। ऑर्डर किसी व्यक्ति की प्राथमिकता के आधार पर नहीं दिया जाता है। एक संगठन के तौर पर हमलोग अपने सहयोगियों और उपभोक्ताओं के बीच किसी आधार पर भेदभाव नहीं करते हैं।

बहरहाल, खाने का ऑर्डर स्वीकार नहीं करने वाले उपभोक्ता से संपर्क नहीं हो सका। खान ने बताया कि दिलचस्प है कि खाने का ऑर्डर जिस रेस्त्रां से भेजा गया था वह भी कोई और नहीं बल्कि मुस्लि’म ही चलाता है। जो की एक नॉनवेज रेस्तरां है।

Leave a comment