VIDEO: शही’द मोहम्मद आरिफ पठान हुए सुपुर्द-ए-खाक, भीड़ इतनी थी के लोग समा नहीं रहे थे

नई दिल्लीः जम्मू कश्मीर में देश की सुरक्षा के लिए अपनी जा’न कुर्बान करने वाले मोहम्मद आरिफ पठान को राजकीय सम्मान के साथ बुधवार को सुपुर्द ए खाक किया गया. दरअसल पाकिस्तान की ओर से सीजफायर उल्लंघन में आरिफ पठान को सीने में गोली लगी थी। इस दौरान आरिफ को गोली लगी और वे शहीद हो गए। वहीं आरिफ के शहीद होने की खबर से पूरे वडोदरा और गुजरात राज्य में गम का माहौल है।

सीमा पर शहीद होने वाले जवान मोहम्मद आरिफ पठान का परिवार गुजरात के वडोदरा में नवायार्ड इलाके में रहता है। मोहम्मद आरिफ 18-राइफल बटालियन का हिस्सा थे। वह नवायार्ड स्थित रोशन नगर के रहने थे। उनकी उम्र महज 24 वर्ष थी। सैन्य अधिकारियों के मुताबिक पाकिस्तान बॉर्डर पर हुई क्रॉस फायरिं’ग में उन्हें सीने पर गो’ली लगी थी। तीन साल पहले आरिफ की पोस्टिंग जम्मू-कश्मीर में हुई थी।

ASIF
Image Source: Google

मोहम्मद आरिफ के भाई ने संवाददाता को बताया कि सुबह 8 बजे हमारे पास फौजियों के कैंप से फोन आया। हमें बताया गया कि आरिफ के सीने पर गो’ली लगी हैं। उसके बाद 10 बजे दोबारा फोन आया और बताया ​गया कि उनकी मृ$त्यु हो गई है। आरिफ जम्मू-कश्मीर के उधमपुर स्थित अखनूर बॉर्डर पर तैनात था।

सोमवार की सुबह पाकिस्तान की तरफ से फायरिं’ग हुई। और आरिफ ने जवाबी फायरिं’ग की, तभी उन्हें सीने में गो’ली लगी। उपचार के लिए उन्हें फ़ौरन आर्मी अस्पताल भेजा गया, लेकिन वहां पर मौजूद डॉक्टरों ने उसे मृ’त घोषित कर दिया। मंगलवार सुबह साथी जवानों द्वारा आरिफ को सलामी दी गई। उनका पार्थि’व शरीर देर रात वडोदरा लाया गया। जहां इस वीर जवान को श्रद्धांजलि देने बड़ी संख्या में लोग उमड़ पड़े।

आरिफ पठान के पार्थि’व शरीर को तिरंगे में लपेटकर वडोदरा हवाई अड्डे पर लाया गया. जहाँ इन्तेजार कर रहे लोगों ने एयरपोर्ट पाकिस्तान मुर्दाबाद और हिंदुस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए। उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया. इसके बाद आज सुबह आरिफ पठान की अंतिम यात्रा भी निकाली गई।

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *