तेजी से बढ़ रही मस्जि’दों पर कार्रवा’ई करने की मांग करने वाले भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा को पड़ा भा’री

नई दिल्लीः पश्चिमी दिल्ली से भारतीय जनता पार्टी बीजेपी के सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा ने दावा किया था कि उनके संसदीय क्षेत्र सहित शहर के कई भागों में सरकारी जमीन और सड़कों पर मस्जि’दें तेजी से बढ़ रही हैं. उन्होंने कहा कि इससे शहर का ट्रैफिक प्रभावित हो रहा है और जनता को असुवि’धा के चलते दिक्कत हो रही है. जिसको लेकर सांसद ने दिल्ली के उपराज्यपाल एलजी अनिल बैजल को पत्र लिखकर तत्का’ल कार्रवा’ई का अनुरोध किया था।

अब दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग ने दिल्ली की मस्जि’दों को लेकर स्टडी की है. ये स्टडी एक पैनल से कराई गई है. इस पैनल के अध्यक्ष ओवैस सुल्तान खान थे. दरअसल आयोग ने ये स्टडी बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा के उस बयान के बाद किया है जिसमें उन्होंने कहा था कि अवैध जमीनों पर मस्जि’दें तेजी से बढ़ रही हैं।

Image Source: Google

पैनल के अध्यक्ष ओवैस सुल्तान के मुताबिक प्रवेश वर्मा ने जिन मस्जि’दों का नाम लिया है उनमें से एक तो 400 साल पुरानी है. उन्होंने कहा कि प्रवेश वर्मा का आरोप झूठा है, उनके खिला’फ FIR करानी चाहिए. दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग को प्रवेश वर्मा के खिला’फ एथि’क्स कमिटी में शिकायत करानी चाहिए. वो इस आधार पर सांसद के तौर पर अयोग्य घोषित किए किए जा सकते हैं।

ओवैस सुल्तान ने प्रवेश वर्मा के बयान को राजनीतिक करार दिया है. उनके मुताबिक दिल्ली विधानसभा चुनाव को देखते हुए माहौ’ल बिगाड़’ने का प्रयास हो रहा है उन्होंने कहा कि हमने पूरी दिल्ली में स्ट’डी की है और पैनल ने एक भी अवै’ध मस्जिद नहीं पाई।

पश्चिम दिल्ली से बीजेपी सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा ने दावा किया था कि उनके संसदीय क्षेत्र सहित शहर के कई भागों में सरकारी जमीन और सड़कों पर मस्जि’दों की संख्‍या तेजी से बढ़ रही है. उन्‍होंने यह भी कहा था कि इससे शहर का ट्रैफिक प्रभावि’त हो रहा है और जनता को असुवि’धा हो रही है।

इस मामले पर सांसद ने दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल को पत्र लिखकर तत्काल कार्रवाई का अनुरोध किया था. उन्होंने उपराज्यपाल को लिखे पत्र में कहा, मैं पूरी दिल्ली लेकिन खासकर मेरे संसदीय क्षेत्र पश्चिम दिल्ली के कुछ खास भागों में सरकारी जमीन सड़कों तथा एकांत स्थानों पर मस्जि’दों के तेजी से बढ़ने के एक खास तरीके से अवगत कराना चाहता हूं।