CAA Protest: देवबंद बना दूसरा शाहीन बाग, महिलाओं की बढ़ती भीड़ देख प्रशासन के फूले हाथ पांव

देश भर में नागरिकता संशोधन क़ानून (CAA) का विरोध हो रहा है इन विरोध प्रदर्शनों की पहचान बन चुके दिल्ली के शाहीनबाग़ में पिछले 2 महीने से लगातार प्रदर्शन हो रहा है इसी कड़ी में एक और नाम जुड़ता नजर आ रहा है जो है सहारनपुर के देवबंद का ईदगाह बाग़ जिसमे नागरिकता कानून को लेकर विरोध प्रदर्शन चालू हो गया है.

आपको बता दें कि उत्तरप्रदेश के मुख्य पर्यटन स्थलों में से एक सहारनपुर इस बार अपने एक नए मुद्दे को लेकर चर्चा में है क्युंकि यहाँ एक मैदान में हजारों महिलायें पिछले करीब 2 हफ़्तों से देश में आये एक क़ानून जिसका नाम CAA (नागरिकता संशोधन कानून)है, को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहीं है.

चूड़ियां फेकीं तो भागे अधिकारी-

नागरिकता कानून का विरोध कर रही इन महिलाओं का कहना है कि जब तक सरकार लिखित में इस कानून को बापस नहीं लेगी ये प्रदर्शन जारी रहेगा. इस प्रदर्शन का नाम देवबंद सत्याग्रह रखा गया है.

दरअसल प्रशासन की ओर से एक प्रतिनिधि मंडल इन्हें समझाने को ईदगाह मैदान पहुंचा था,लेकिन प्रदर्शनकारी महिलायें इन्हें देखकर भड़क गई महिलाओं ने गो बेक के नारे लगाए और मंडल पर “चूड़ियां” फेंकना शुरू कर दी जिसे देखते हुए अधिकारियों ने वहां से जाना ही उचित समझा.

बता दें कि इस प्रतिनिधि मंडल में नगर की पूर्व विधायक माविया अली, चेयरमैन जियाउद्दीन अंसारी समेत अन्य लोगों को शामिल किया गया था. हालाकिं इस मामले पर प्रशासन ने सख्त रुख अपनाने के संकेत दिए है.

प्रशासन की ओर से महिलाओं को नोटिस जारी किये गए है साथ ही चेतावनी भी दी है कि जल्द से जल्द इस धरने को ख़तम करें वरना कानूनी कार्यवाही की जायेगी.

गौरतलब है कि आज दिल्ली में सत्ता परिवर्तन के लिए वोट डाले जा रहे है और 2 महीने से राजनीति का अखाड़ा बने शाहीनबाग़ के साथ ही आसपास के इलाकों में जमकर वोटिंग देखी जा रही है.

जिसमे भी महिलाओं की उपस्तिथि पुरुषों से ज्यादा बताई जा रही है अब ये देखना रोचक होगा कि ये महिलायें किस प्रत्याशी को विधानसभा की दहलीज़ तक पहुंचाती हैं.