VIDEO: तबरेज अंसारी की मौ’त मामले में डीआईजी बोले- हमें जवाब देना बहुत मुश्किल हो रहा

जमशेदपुर: सरायकेला के धातकीडीह गांव में मॉ’ब लिं@चिंग के शिकार हुए तबरेज अंसारी मामले में डीआईजी कुलदीप द्विवेदी ने माना है कि सरायकेला पुलिस इस मामले में सीधे तौर पर दो’षी है। ग्रामीणों के चं’गुल से छुड़ाकर थाना लाने के बाद तबरेज के बयान पर मा’रपी’ट करने वालों के खि’लाफ पुलिस को केस दर्ज कर कार्रवाई करनी चाहिए थी, जो नहीं की गई। तबरेज को अस्पताल ले जाने की वजाए पुलिस उसे थाने ले आई पुलिस ने किन प’रिस्थि’तियों में ऐसा किया, इसकी जांच की जा रही है। यह पुलिस की बड़ी चूक है। पूरे डिपार्टमेंट की भ’द्द पि’टी है।

वही तबरेज के चाचा मोहम्मद मसरूर ने बताया कि तबरेज को लोगों ने पहले पूरी रात बे’रह’मी से पी’टा। जब उसने पानी मांगा, तो लोगों ने उसे धतूरे का रस पिला दिया जो एक तरह का ज’हर है। मामले काे फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाया जाए। और जल्द से जल्द हमें न्याय दिया जाए।

DIG
Image Source: Google

मृतक की पत्नी शाहिस्ता परवीन ने पीएम मोदी और जिला पुलिस-प्रशासन से इंसाफ की गु’हार लगाई। शाहिस्ता ने कहा कि मेरे शौहर बेकसूर थे। एक सोची-समझी सा’जिश के तहत चो’री का आरोप लगाकर उन्हें मा’र दिया गया। 17 जून को रात 10 बजे पति ने फोन करके बताया था कि वह जमशेदपुर से खरसावां लौट रहे है। उसके बाद मैने कई बार फोन किया लेकिन उनका फोन भी नहीं लगा।

सुबह 5 बजे फोन कर बताया कि धातकीडीह में लोगाें ने चो’री का इल्जाम लगाकर उनकी बे’रहमी से पि’टा’ई की है।तबरेज मामले में मंगलवार को हाईकाेर्ट में पीआरईएल दायर की गई। याचिकाकर्ता जनसभा मंच ने काेर्ट से अपील की है कि झारखंड में अब तक हुए सभी माॅब लि@चिंग मामलों की सीबीआई जांच हो।

सरायकेला मॉब लिं@चिंग मामले में डीआईजी कुलदीप द्विवेदी ने कहा चोरी के आरोपी तबरेज को ग्रामीणों के चंगुल से पुलिस छुड़ाकर थाने ले आई थी। चोरी का मुकदमा दर्ज कर उसका इलाज करा जेल भेज दिया। उसी दिन पुलिस घा’यल के बयान पर उसके साथ मा’रपी’ट करने वालों पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करनी चाहिए थी।

लेकिन पुलिस ने ऐसा नाही किया किन आखिर किस परिस्थितियों में पुलिस ने ऐसा किया, इसकी जांच जारी है। यह सरायकेला पुलिस की बड़ी चूक है। इस चूक ने पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़ा कर दिया है। इसका जवाब देना हमारे लिए बहुत मुश्किल बन रहा है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *