तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगन का अमेरिका में डोनाल्ड ट्रम्प ने किया ज़ोरदार स्वागत

जब तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान और डोनाल्ड ट्रंप का नाम सामने आता है, तो लोगों के बीच एक असमंजस की स्थिति पैदा हो जाती है. लोग उनके संबंधों को लेकर निर्णय नहीं ले पाते. इनके संबंधों को लेकर भी तरह-तरह की बातें सोशल मीडिया में होती हैं कि ये एक दुसरे के दोस्त हैं या दुश्मन. फिलहाल अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगन को अमेरिका बुलाकर उनका स्वागत करके दुनिया को चौंका दिया है.

दोनों देशों के रिश्ते किस तरह के हैं, यह पूरी तरह से साफ नहीं हो पाया है, क्योंकि कई मुलाकातों में तुर्की के राष्ट्रपति एरदोगन को डोनाल्ड ट्रंप से दूरी बनाते देखा गया है. वही हाल ही में अपने खिला’फ चल रही महाभियोग की प्रक्रिया से को किनारा करते हुए अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप बीते बुधवार को व्हाइट हाउस में तुर्की के राष्ट्रपति तैयब अर्दोगन का शानदार स्वागत किया.

Donald Trump and Erdogan With Wife

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प उनके साथ बड़ी गर्मजोशी से मिले. तुर्किश मीडिया ने एक ट्वीट में वीडियो पोस्ट किया है जिसमें डोनाल्ड ट्रंप खुद को तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान का बड़ा प्रशंसक मानते हैं. वह दोनों देशों की मीडिया के सामने बयान देते हैं. ‘हमारे बीच काफी लंबे समय से एक अच्छी दोस्ती है’

आपको बता दें दोस्तों की डोनाल्ड ट्रंप व्हाइट हाउस में जिस वक्त तुर्की के राष्ट्रपति की अगवानी कर रहे थे, उसी दौरान उनके खिला’फ विपक्षी डेमोक्रेट्स की महाभियोग की प्रक्रिया शुरू हुई. इससे पहले हुए उत्तरी सीरिया में हम’लों के भारी विरो’ध के बावजूद भी उन्होंने एरदोगन का ज़ोरदार स्वागत किया.

मीडिया के समाख वे बोले कि हम पिछले काफी समय से एक दूसरे को अच्छी तरह से समझते हैं, हमारे बीच लम्बे समय से दोस्ती है, और इससे कुछ समय पहले भी डोनाल्ड ट्रंप अर्दोगन को एक चिट्ठी भेज चुके हैं. जिसमें कई तरह के नए कारोबार करने के समझौते का प्रस्ताव रखा गया था.

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि इन दोनों के संबंध किस तरह के हैं, यह अभी तक खुलकर सामने नहीं आ सका है. क्योंकि कुछ ही समय पहले डोनाल्ड ट्रंप ने भी तुर्की को लेकर अपना रुख स’ख्त किया था, और तुर्की पर कई तरह की पाबंदियां ठोक दी थी.

हालांकि बाद में तुर्की के संघ’र्षविराम के उपरांत डोनाल्ड ट्रंप ने अपने तरफ से लगाये गए सभी प्रतिबंधों को रद्द कर दिया था. और उधर तुर्की के मिसाइ’ल रक्षा प्रणाली s400 खरीदने की वजह से अमेरिका इनसे पहले से ही नारा’ज चल रहा था, हाल ही में इन्होने बताया कि हम एफ-35 लड़ाकू विमानों के बारे में भी बात करेंगे.